पृथ्वी शॉ पर गिरी डोपिंग की गाज, BCCI ने लगाया 8 महीने का प्रतिबंध

Last Updated: मंगलवार, 30 जुलाई 2019 (21:35 IST)
नई दिल्ली। चोट के कारण काफी समय से क्रिकेट मैदान से बाहर चल रहे भारत के युवा टेस्ट ओपनर पृथ्वी शॉ के कारण 8 महीने के लिए निलंबित हो गए हैं। पृथ्वी के साथ दो और खिलाड़ियों राजस्थान के दिव्य गजराज और विदर्भ के अक्षय डुल्लरवार को डोपिंग उल्लंघन के कारण निलंबित किया गया है।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को बताया कि मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी को डोपिंग नियमों का उल्लंघन करने के कारण निलंबित कर दिया है। पृथ्वी ने अनजाने में एक प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन कर लिया था, जो आम तौर पर खांसी के सिरप में पाया जाता है। पृथ्वी पर यह निलंबन मार्च के महीने की पिछली तारीख से लगाया गया है और यह इस साल 15 नवम्बर तक जारी रहेगा।

ने बताया कि पृथ्वी ने इंदौर 22 फरवरी 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी मैच के दौरान बीसीसीआई के डोपिंग रोधी कार्यक्रम के तहत अपना मूत्र नमूना दिया था और टेस्ट के बाद इस नमूने में प्रतिबंधित पदार्थ टर्ब्यूटलाइन पाया गया है। यह पदार्थ विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की प्रतिबंधित दवाओं की सूची में शामिल है।
कूल्हे की चोट से उबर रहे पृथ्वी को 8 महीने के लिए निलंबित किया गया है। पृथ्वी का निलंबन 16 मार्च 2019 से लागू होगा और 15 नवंबर 2019 की अर्धरात्रि तक लागू रहेगा। बीसीसीआई ने बताया कि पृथ्वी के इस मामले में स्पष्टीकरण के बाद बोर्ड ने उन्हें 8 माह के लिए निलंबित किया है। यह निलंबन 16 मार्च 2019 से शुरू हो रहा है और 15 नवंबर को समाप्त होगा।
डोपिंग के उल्लंघन को लेकर पृथ्वी के अलावा घरेलू क्रिकेट में राजस्थान के लिए खेलने वाले दिव्य गजराज और विदर्भ के लिए खेलने वाले अक्षय डुल्लरवार को भी निलंबित किया गया है।

राजस्थान के गजराज ने आंख की चोट के इलाज के लिए जो दवा ली थी, उसमें प्रतिबंधित प्रदार्थ था जबकि विदर्भ के अक्षय ने एक इन्फेक्शन के लिए जो दवा ली थी, उसमें प्रतिबंधित प्रदार्थ था। गजराज का निलंबन 25 सितम्बर और अक्षय का निलंबन 9 नवम्बर की अर्धरात्रि को समाप्त होगा।

बीसीसीआई ने बताया कि इस महीने 16 जुलाई को पृथ्वी पर बीसीसीआई के डोपिंग रोधी नियम अनुच्छेद 2.1 के तहत डोपिंग रोधी नियम उल्लंघन (एडीआरवी) का आरोप लगाया गया और उन्हें अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया। इस मामले में पृथ्वी ने आरोप को स्वीकार किया लेकिन साथ ही कहा कि यह उनसे अनजाने में हुआ।
क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि पृथ्वी ने अनजाने में इस प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया था और इस मामले में उन्होंने जो स्पष्टीकरण दिया है, बोर्ड ने उसे स्वीकार कर लिया है। बीसीसीआई ने बताया कि पृथ्वी 15 नवंबर तक सभी तरह की क्रिकेट से निलंबित रहेंगे।

बीसीसीआई ने पृथ्वी की सफाई को स्वीकार कर लिया है कि उन्होंने शारीरिक क्षमता बढ़ाने के तौर पर नहीं, बल्कि खांसी रोकने के लिए इस प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया है। हालांकि इस मामले में सभी तरह के विचार-विमर्श के बाद यह तय किया गया कि पृथ्वी को लापरवाही बरतने के लिए 8 महीने का प्रतिबंध झेलना होगा।
उल्लेखनीय है कि पृथ्वी चोट के कारण काफी समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं और वेस्टइंडीज दौरे के लिए भी उनका चयन नहीं किया गया। पृथ्वी ने अपना आखिरी टेस्ट मैच 23 अक्टूबर, 2018 को वेस्टइंडीज के खिलाफ हैदराबाद में खेला था। उन्होंने अब तक भारत के लिए दो टेस्ट खेले हैं। उनके नाम एक शतक और एक अर्धशतक दर्ज है।

उन्होंने दो टेस्ट में 118.50 की औसत से 237 रन बनाए हैं। पृथ्वी ने टेस्ट करियर का आगाज 4 अक्टूबर 2018 को वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट में किया था और इस टेस्ट की पहली ही पारी में उन्होंने 154 गेंद पर 134 रन जड़ दिए थे। हैदराबाद में भी अर्धशतक लगाने के कारण उन्हें 'मैन ऑफ द सीरीज' के पुरस्कार से नवाजा गया था।

 

और भी पढ़ें :