flashback 2019 : भारतीय क्रिकेट की 10 बड़ी घटनाएं

साल 2019 में पूरी दुनिया में का डंका बजता रहा। क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया की नई इबारत लिखी जाती रही और भारतीय क्रिकेट रचते चले गए। यह सिलसिला पूरे साल बदस्तूर जारी रहा। भारतीय टीम आईसीसी टेस्ट रैंकिंग के सिंहासन पर भी विराजित है तो एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दुनिया की नंबर एक टीम भी बनी। इस साल की 10 बड़ी घटनाएं जो सुर्खियों में रहीं।

1. विराट कोहली ने बाजी मारी : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को पछाड़ते हुए इस साल का अंत टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष बल्लेबाज के रूप में करने जा रहे हैं। यही नहीं, उनकी अगुवाई में टीम इंडिया भी आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में नंबर 1 पर बनी हुई है।
विराट कोहली के 928 रेटिंग अंक हैं और वे ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ से 17 अंक आगे हैं। आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में भारत 360 अंक लेकर शीर्ष पर है। उसके बाद ऑस्ट्रेलिया (216), पाकिस्तान (80), श्रीलंका (80), न्यूजीलैंड (60) और इंग्लैंड (56) का नंबर आता है।

27 जून 2019 का दिन विराट कोहली के लिए हमेशा इसलिए याद रहेगा, क्योंकि उन्होंने विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच में 37 रन बनाते ही सबसे तेज 20000 रन बनाने के मामले में सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा को पीछे छोड़ दिया। बीते 71 साल के भारतीय क्रिकेट इतिहास में विराट ने वह कारनामा किया, जो आज तक कोई भी एशियाई कप्तान नहीं कर पाया।

विराट की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसी की जमीन पर 2-1 से हराकर टेस्ट सीरीज जीती। यही नहीं, टीम इंडिया ने इस साल न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज 4-1 से जीतकर इतिहास रच दिया। 2019 में विराट कोहली वनडे में सबसे ज्यादा 21 कैच लपकने वाले दुनिया के नंबर 1 क्रिकेटर भी बने। उनके बाद जैसन होल्डर ने 18 कैच लपके हैं।
2. रोहित शर्मा के नाम वनडे में सबसे ज्यादा रन : टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने विश्व कप 2019 में अपनी बल्लेबाजी से जो कहर ढाया, वह बरसों बरस याद रहेगा। उन्होंने विश्व कप के 9 मैचों में सबसे ज्यादा 648 रन बनाए, जबकि डेविड वॉर्नर 10 मैचों में 647 रन के साथ दूसरे नंबर पर आए। विश्व कप के एक ही संस्करण में 5 शतक लगाने वाले वे दुनिया के पहले बल्लेबाज भी बने। उन्होंने सचिन तेंदुलकर के क्रिकेट विश्व कप टूर्नामेंट में 6 शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी भी की है।

2019 में रोहित 27 मैचों की 26 पारियों में 1427 रन बनाकर दुनिया में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। रोहित इस साल दुनिया में सबसे ज्यादा 78 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज भी बने हैं। इसके अलावा वे दुनिया के ऐसे पहले क्रिकेटर हैं, जिन्होंने 7 अलग-अलग देशों के खिलाफ शतक जमाए हैं।

3. मोहम्मद शमी के लिए कभी खुशी कभी गम : टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज रहे मोहम्मद शमी के लिए यह साल कभी खुशी, कभी गम की तरह रहा। घरेलू हिंसा के कारण उनकी पत्नी हसीन जहां ने कोलकाता में एफआईआर दर्ज की और फिर उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट भी निकला लेकिन वक्त गुजरने के साथ सब ठीक होता चला गया।
पत्नी से उनकी सुलह तो नहीं हुई अलबत्ता वे मैदान पर अपनी कामयाबी के एक के बाद एक पन्ने रंगते चले गए। शमी ने अपने ताज में एक और नगीना जड़ा, क्योंकि वे 2019 में दुनिया के पहले गेंदबाज बन गए हैं, जिन्होंने 21 वनडे मैचों में सर्वाधिक 42 विकेट हासिल किए।
4. वनडे में 2 'हैट्रिक' लेने वाले देश के पहले गेंदबाज : 18 दिसंबर के दिन कुलदीप यादव ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में हैट्रिक ली। वे देश के ऐसे पहले और दुनिया के छठे गेंदबाज बने, जिन्होंने वनडे में 2 बार हैट्रिक ली। कुलदीप ने इससे पहले वनडे में हैट्रिक लेने का कारनामा 21 अक्टूबर 2017 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था।
भारत के लिए वनडे में सबसे पहले 1987 में चेतन शर्मा ने नागपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ हैट्रिक ली थी। उसके बाद 1991 में कपिल देव ने कोलकाता में श्रीलंका के विरुद्ध हैट्रिक ली। इसके बाद कुलदीप यादव ने 2017 में कोलकाता में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, मोहम्मद शमी ने 2019 में साउथेम्पटन में अफगानिस्तान के खिलाफ हैट्रिक ली थी।
5. बने दुनिया के नंबर 1 गेंदबाज : तेज गेंदबाजी में भारत के जसप्रीत बुमराह दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों को पछाड़ते हुए आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन गेंदबाज की कुर्सी पर विराजमान हैं। यह भारतीय क्रिकेट की एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

6 जुलाई 2019 के दिन जसप्रीत बुमराह विश्व कप में श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने को आउट करने के साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट में 100 विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बन गए। बुमराह ने यह कामयाबी 57 मैच में हासिल की, जबकि मोहम्मद शमी ने 56 मैचों में 100 विकेट लिए थे।
6. आईसीसी विश्व कप में भारत का सफर : 2011 की चैंपियन और खिताब की सबसे प्रबल दावेदार रही टीम इंडिया का विश्व कप 2019 में सफर सेमीफाइनल तक ही रहा। न्यूजीलैंड ने भारत को 18 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। मजेदार बात यह रही कि नेट रन रेट के जोड़तोड़ में बाजी मारकर किसी तरह न्यूजीलैंड की टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी।
जिस रोहित शर्मा के बल्ले से इस विश्व कप में 5 शतक निकले थे, उसी रोहित का मात्र 1 रन पर आउट होना टीम को ले डूबा। भारतीय टीम 49.3 ओवर में 221 रन पर ढेर हो गई। न्यूजीलैंड ने यह रोमांचक मुकाबला 18 रनों से जीत लिया।

7. सबसे ज्यादा 35 मैच जीतने वाली टीम इंडिया : भारतीय क्रिकेट टीम ने इस साल अपने नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज किया। टीम इंडिया ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में कुल 52 मैच खेले जिसमें 35 मैच जीते और 15 हारे। भारतीय टीम 7 टेस्ट, 19 वनडे और 9 टी20 मैच जीतने में सफल रही। ऑस्ट्रेलिया ने इस साल कुल 42 मैच खेले और 30 जीते, जबकि इंग्लैंड टीम ने 42 मैचों में से 24 जीते।

8. डे-नाइट टेस्ट में भारत की रिकॉर्ड जीत : ईडन गार्डन पर पहली बार पिंक बॉल के साथ डे-नाइट टेस्ट मैच आयोजित किया गया, जिसमें भारत ने बांग्लादेश को दूसरे टेस्ट में पारी और 46 रनों से हराकर रिकॉर्ड जीत दर्ज की। भारत ने 2 टेस्ट मैचों की सीरीज 2-0 से जीती। दूसरे टेस्ट की खासियत यह थी कि सभी 19 विकेट भारतीय तेज गेंदबाजों ने झटके।
इस जीत के साथ ही भारत दुनिया का ऐसा पहला देश बन गया, जिसने लगातार 4 टेस्ट मैच पारी के अंतर से जीते। पहले टेस्ट में टीम इंडिया ने इंदौर में बांग्लादेश को पारी और 130 रन से हराया था। उससे पहले इसी साल भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पुणे में पारी और 137 रन से और रांची में दक्षिण अफ़्रीका को पारी और 202 रन से शिकस्त दी थी।
9. आईपीएल में बरसा बेशुमार धन : दुनिया की सबसे लोकप्रिय लीग आईपीएल का 13वां संस्करण भले ही 2020 में शुरू होगा लेकिन खिलाड़ियों की नीलामी 2019 में हो गई, जिसमें सबसे ज्यादा 15 करोड़ 50 लाख रुपए की कीमत ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंग की लगी, जिन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स ने खरीदा। कमिंस सबसे ज्यादा महंगे बिकने वाले पहले विदेशी क्रिकेटर बन गए हैं।
आईपीएल नीलामी में 17 साल के यशस्वी जायसवाल को राजस्थान रॉयल्स द्वारा 2 करोड़ 40 लाख में खरीदना भी इसलिए चर्चा का विषय बन गया क्योंकि इस खिलाड़ी ने बहुत गरीबी के दिन देखे। उत्तर प्रदेश के यशस्वी क्रिकेटर बनने के लिए 11 बरस की उम्र में ही मुंबई आ गए थे। कई रातें उन्होंने भूखे पेट गुजारी और चाचा की रेहड़ी पर गोलगप्पे भी बेचे। आईपीएल ने यशस्वी की किस्मत के दरवाजे खोल दिए हैं।

10. ने नाटकीय ढंग से लिया : आईसीसी विश्व कप के ठीक पहले 2011 के विश्व कप के हीरो रहे युवराज सिंह ने नाटकीय ढंग से 10 जून 2019 के दिन मुंबई में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी। युवराज ने जीवन के 37 सालों में से 25 साल क्रिकेट को दिए और 22 गज की दूरी पर उनके करीब 17 बरस के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का अंत हुआ। उन्‍होंने कैंसर से जूझने के बाद मैदान पर वापसी की। इसी खेल ने उन्हें चलना सिखाया, गिरना सिखाया और गिरकर फिर संभलना भी सिखाया।
2007 में टी20 विश्व कप की चैंपियन टीम इंडिया के सदस्य रहे युवराज सिंह 2011 के आईसीसी विश्व कप में भारत को चैंपियन बनाने वाले क्रिकेटरों में से एक रहे। उन्होंने विश्व कप में 1 शतक और 4 अर्धशतक के साथ कुल 362 रन तो बनाए ही साथ में कुल 15 विकेट भी लिए, जिसमें एक मैच में 5 विकेट शामिल थे।
19 साल की उम्र में पहला वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले युवराज ने 40 टेस्ट (1900 रन, उच्चतम 169), 304 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच (8701 रन, उच्चतम 150) और 58 टी20 (1177 रन, उच्चतम 77 नाबाद) मैच में भारतीय टीम का हिस्सा रहे।


और भी पढ़ें :