विश्वकप के चयनकर्ताओं को कैसे गलत साबित कर रहे हैं यह 5 खिलाड़ी

Last Updated: मंगलवार, 23 अप्रैल 2019 (18:54 IST)
मुंबई। भारतीय चयनकर्ताओं ने 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाले आईसीसी एकदिवसीय विश्वकप के लिए 15 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा की। इसमें ओपनर लोकेश राहुल, ऑलराउंडर विजय शंकर और विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को जगह मिली है, जबकि प्रबल दावेदार माने जा रहे अन्य विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत विश्वकप टीम में जगह बनाने से चूक गए।पंत के अलावा अंबाती रायुडू भी विश्वकप टीम में जगह बनाने से चूक गए।
बीसीसीआई के इन दो निर्णय से कई क्रिकेट आलोचक खफा थे। के ऊपर दिनेश कार्तिक को तरजीह दी गई और अंबाती रायडू के ऊपर विजय शंकर को। लेकिन विश्वकप की टीम में चयन होने के गम से यह दोनों खिलाड़ी टूटे नहीं है। बल्कि इनके अलावा जिनका चयन नहीं हुआ वह भी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं।

रिषभ पंत - विश्वकप की टीम में चयन न होने के बाद इन्होंने गुस्सा मैदान पर उतारा। सोमवार को राजस्थान से हुए मुकाबले में पंत ने 36 गेंद में 78 रन बना दिए। इस सीजन में पंत अब तक 11 मैचों में 336 रन बना चुके हैं।
अंबाती रायडू- विश्वकप में नंबर चार की बल्लेबाजी चूकने वाले रायडू ने अपना दिल छोटा नहीं किया। चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते हुए 10 मैचों में उन्होंने 192 रन बना लिए हैं।

अजिंक्य रहाणे- पहली बार आईपीएल में शतक बनाने वाले रहाणे भी नंबर चार के दावेदार थे । दिलचस्प बात यह है कि दिल्ली के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स के इस बल्लेबाज का शतक भी भारतीय टीम की घोषणा के बाद आया। अब तक रहाणे 10 मैचों में 318 रन बना चुके हैं।
आर अश्विन- कभी वनडे टीम का अहम हिस्सा रहने वाले अश्विन को भी उम्मीद थी कि उनका नाम आएगा। लेकिन आईपीएल देखें तो उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। 10 मैचों में वह 36 रन देकर 11 विकेट ले चुके हैं।

दीपक चहर- चौथे तेज गेंदबाज के तौर पर उम्मीद लगाए बैठे दीपक चहर विकेट निकालकर चयनकर्ताओं को जवाब दे रहे हैं। अब तक उन्होंने 10 मैचों में 7
रन देकर 13 विकेट लिए हैं।

 

और भी पढ़ें :