एबी डीविलियर्स के दिमाग पर महेंद्र सिंह धोनी ने इस तरह छोड़ा प्रभाव

पुनः संशोधित रविवार, 19 मई 2019 (20:59 IST)
नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का प्रभाव केवल भारतीय क्रिकेटरों पर ही नहीं है, बल्कि विश्व के कई अन्य खिलाड़ियों पर भी है और खासतौर पर दक्षिण अफ्रीका के पर।
वर्ष 2018 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से ले चुके डीविलियर्स ने यह स्वीकार किया है कि यदि धोनी 2023 तक क्रिकेट खेलते रहें तो वे से एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बारे में विचार करेंगे।
'मिस्टर 360' डिग्री नाम से मशहूर डीविलियर्स ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि 2023 विश्व कप तक मैं 39 वर्ष का हो जाऊंगा। अगर धोनी तब तक खेलते रहें तो मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने पर विचार करूंगा।

इंडियन प्रीमियर लीग में पसंदीदा खिलाड़ियों की सूची में शुमार डीविलियर्स ने लीग में अन्य खिलाड़ियों के साथ खेलने पर कहा कि सभी खिलाड़ियों के साथ बल्लेबाजी करने का अलग अनुभव है। उन्होंने इस दौरान भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और क्रिस गेल की तुलना में कहा कि दोनों खिलाड़ियों का अपना अलग मिजाज है।
35 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि विराट जबरदस्त खिलाड़ी हैं। उन्हें 10 में 10 अंक दिए जाने चाहिए जबकि गेल शांत स्वभाव के हैं। उन्होंने 23 मई 2018 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की थी जिसके बाद से डिविलियर्स विश्व की अलग-अलग टी-ट्वेंटी लीग में खेलते रहे हैं। हाल ही में वे रॉयल चैलेंजर बेंगलोर के लिए आईपीएल के 12वें सत्र में खेले थे।

बड़े शॉट्स लगाने में माहिर दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ने आईपीएल 12 में 44.20 की औसत से 440 रन बनाए थे हालांकि उनकी टीम क्वालीफायर्स में नहीं पहुंच सकी थी। उन्होंने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मुकाबला भारत के खिलाफ 2018 में खेला था।

 

और भी पढ़ें :