शनिवार, 20 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. करियर
  3. समाचार
  4. NTA has released guidelines for jee main and neet exams
Written By
Last Updated : मंगलवार, 25 अगस्त 2020 (23:46 IST)

#NationalTestingAgency : निर्धारित समय पर होगी NEET और JEE एक्जाम, NTA ने बनाई यह योजना

#NationalTestingAgency :  निर्धारित समय पर होगी NEET और JEE एक्जाम, NTA ने बनाई यह योजना - NTA  has released guidelines for jee main and neet exams
नई दिल्ली। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) सितंबर में होने जा रही मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं (NEET and JEE exams) के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाने, एक सीट छोड़कर बैठाने, प्रत्येक कमरे में कम उम्मीदवारों को बैठाने और प्रवेश-निकास की अलग व्यवस्था जैसे कदम उठाएगी।
 
इन प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित करने की बढ़ रही मांग के बीच NTA यह व्यवस्था कोविड-19 महमारी के मद्देनजर केंद्रों पर सामाजिक दूरी के नियम का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए करेगी। शिक्षा मंत्रालय के अधिकारी ने हालांकि जोर दिया है कि परीक्षाएं निर्धारित समय पर ही होंगी।
 
संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य) या जेईई 1 से 6 सितंबर के बीच होगी जबकि राष्ट्रीय अर्हता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-स्नातक) 13 सितंबर को कराने की योजना है।
 
एनटीए ने बयान में कहा कि जेईई के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 570 से बढ़ाकर 660 की गई है जबकि नीट परीक्षा अब 2,546 केंद्रों की बजाय 3,843 केंद्रों पर होगी। जेईई कंप्यूटर आधारित परीक्षा है जबकि नीट पारंपरिक तरीके से कलम और कागज पर होती है। 
 
बयान में कहा गया कि इसके अलावा जेईई-मुख्य परीक्षा के लिए पालियों की संख्या 8 से बढ़ाकर 12 कर दी गई है और प्रत्येक पाली में विद्यार्थियों की संख्या अब 1.32 लाख से घटकर 85,000 हो गई है। 
 
एनटीए ने कहा कि सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए जेईई-मुख्य परीक्षा में छात्रों को परीक्षा कक्ष में एक सीट छोड़कर बैठाया जाएगा जबकि नीट परीक्षा में एक कमरे में विद्यार्थियों की संख्या 24 से घटाकर 12 कर दी गई है। परीक्षा कक्षा के बाहर सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनश्चित करने के लिए उम्मीदवारों का विशेष प्रवेश एवं निकास होगा।
 
गौरतलब है कि परीक्षार्थियों और उनके माता-पिता ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों की वजह से परीक्षा स्थगित करने की मांग की है।
 
कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, द्रमुक प्रमुख एमके स्टालिन और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित कई विपक्षी नेताओं ने भी परीक्षा स्थगित करने की मांग की है।
 
हालांकि कोविड-19 की वजह से परीक्षा स्थगित करने का निर्देश देने के लिए दायर याचिका को पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था।
 
 इस वर्ष जेईई-मुख्य परीक्षा के लिए 9.53 लाख विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है जबकि नीट के लिए 15.97 लाख विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है। (भाषा)
ये भी पढ़ें
सुशांत सिंह राजपूत केस में सामने आया ड्रग्स एंगल, ED ने CBI और NCB को सौंपी रिया के कनेक्शन की जानकारी