हनुमान जी का कवच मंत्र और 7 दिन के प्रसाद जानिए यहां

आइए जानते हैं कि हर दिन के अनुसार बजरंबली का भोग क्या है?
हनुमान जी का कवच मंत्र

“ॐ श्री हनुमते नम:”

सर्वकामना पूरक हनुमान मंत्र

ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्।

हनुमान जी का भोग

पवनपुत्र हनुमान जी को सोमवार को हलवा, मंगलवार को गुड़ से बने लड्डू, बुधवार को पंच मेवा, गुरुवार को बूंदी या बूंदी के लड्डू, शुक्रवार को केसर-भात और शनिवार को इमरती का प्रसाद बहुत प्रिय है। पूजा के समय उनको आप इन मिष्ठानों आदि का भोग लगाएं, वे अतिप्रसन्न होंगे। रविवार को उनको डंठल वाला पान चढ़ाते हैं।



और भी पढ़ें :