अनुच्छेद 370 हटने से बौखलाए इमरान ने सोशल मीडिया पर उगला जहर, भारत का पलटवार

Last Updated: रविवार, 11 अगस्त 2019 (17:46 IST)
इस्लामाबाद। से हटाए जाने के बाद की बौखलाहट दुनिया के सामने आ रही है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के परिप्रेक्ष्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की विचारधारा की तुलना नाजी सोच से करते हुए रविवार को आरोप लगाया है कि यह पहले के मुसलमानों का दमन करेगी और बाद में पाकिस्तान को निशाना बनाएगी।
इससे पहले इमरान कश्मीर मुद्दे पर दुनियाभर के देशों से दखल देने की मांग कर चुके हैं, हालांकि उन्हें रूस, अमेरिका और चीन जैसे देशों की तरफ से कोई समर्थन नहीं मिला है। इमरान के इस ट्‍वीट का भारत ने करारा जवाब दिया है।

पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के भारत के फैसले के खिलाफ दुनियाभर के नेताओं से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा है। यहां तक कि पाकिस्‍तान के शीर्ष राजनयिक ने भी वॉशिंगटन और न्‍यूयॉर्क में अमेरिकी सांसदों से मुलाकात की, लेकिन दुनिया के देश पाकिस्तान के तर्कों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
खान ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि मुझे डर है कि नाजियों की आर्य श्रेष्ठता की तरह ही हिन्दू श्रेष्ठता की आरएसएस की विचारधारा कश्मीर तक सीमित नहीं रहेगी। इससे भारत में मुसलमानों का दमन होगा और अंतत: पाकिस्तान को निशाना बनाया जाएगा।

खान ने जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के पिछले सप्ताह लिए गए फैसलों को हिटलर के 'लेबंसरॉम' का 'हिन्दू श्रेष्ठतावादी' संस्कर' बताया जिसमें जर्मनों की बढ़ती आबादी के लिए भू-भाग पर कब्जा किया गया था।
भारत ने दिया करारा जवाब : इमरान खान की इस टिप्पणी का भाजपा के नेता राम माधव ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने इमरान पर पलटवार करते हुए कहा कि इससे पता चलता है कि दुनियाभर में आतंक फैलाने वाला पाकिस्तान कितना बौखला गया है। दुनिया को पाकिस्तान पोषित आतंकवाद से चुनौती है, भारत से कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने जिन्ना के 2 और शेख अब्दुल्ला के 3 राष्ट्र के सिद्धांत को खत्म किया है।

 

और भी पढ़ें :