विश्व पर्यावरण दिवस पर ऑनलाइन पर्यावरण संवाद सप्ताह का शुभारम्भ करेंगी वंदना शिवा



विश्व पर्यावरण दिवस 2020 के अवसर द्वारा हर साल की तरह का आयोजन किया जा रहा है...कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन की स्थिति में इस बार
सनावदिया स्थित आवास की बजाय सभी प्रतिभागी ऑनलाइन indorewale ग्रुप के फेसबुक लाइव से जुड़ेंगे...

सेंटर की
डायरेक्टर डॉ. पलटा मगिलिगन
हर वर्ष अपनी टीम के साथ विश्व पर्यावरण दिवस मनाती हैं....वर्ष 1992 में पृथ्वी सम्मेलन में भाग लेकर लौटने के बाद से आज तक उन्होने यह परम्परा जारी रखी है... आम से लेकर खास तक हर वर्ग को पर्यावरण संरक्षण में शामिल कर पर्यावरण को बचाने के लिए डॉ. जनक प्रयासरत हैं...

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यू एन इ पी) ने इस साल विश्व पर्यावरण दिवस 2020 के लिए
बायोडायवर्सिटी
(जैव विविधता) विषय घोषित किया है...

पृथ्वी पर आज लाखों विशिष्ट जैविक प्रजातियों के रूप में प्राकृतिक संसाधन है जिनसे समस्त प्राणियों की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति होती है। इसी विविधता से जीवन चलता है। लेकिन विश्व में बहुत तेज़ी से विलुप्त हो रही प्रजातियां और उनके कारण संतुलन बिगड़ने से ही जलवायु संकट,आपदा व स्वास्थ्य सम्बन्धी महामारी विकराल रूप ले रही है...

प्रकृति ने अपना यह रूप दिखा कर हमें मजबूर कर दिया है कि अब हम प्रकृति की जैव विविधता को समझे,इसपर व्यक्तिगत व सामूहिक रूप से चिन्तन करें, इसकी रक्षा करें...इसका सरंक्षण करना मानवजाति का कर्तव्य भी है और अधिकार भी क्योंकि यह असुंतलन हमने बनाया है हमें ठीक करना होगा।

इसी शुभ उद्देश्य से मई 31 से जून 5 ,2020
तक हर दिन सभी आयु ,वर्ग के लोगों, गैर सरकारी संगठनों और शैक्षिक संस्थानों तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं को सक्रिय रूप से शामिल करने के लिए यह ऑनलाइन पर्यावरण संवाद आयोजित किया जा रहा है, जिसकी शुरुआत मई 31 को शाम 5 बजे होगी....


मुख्य अतिथि विश्वविख्यात पर्यावरणविद वंदना शिवा इसका
शुभारम्भ करेंगी जो इस समय लॉकडाउन
के चलते देहरादून में हैं लेकिन सब जानते हैं कि उनकी बुलंद आवाज़ को कोई लॉकडाउन नहीं रोक सकता।

जिम्मी मगिलिगन सेंटर फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट की डायरेक्टर डॉ.5 बजे संवाद के
सभी मुख्य वक्ताओं व सहभागियों का स्वागत कर सस्टेनेबल डेवलपमेंट के लिए जैव विविधता बनाए रखने का आव्हान करेंगी!

पहले दिन संवाद की शुरुआत डॉक्टर वंदना शिवा के जैव विविधता: भारत के लिए चुनौतियां और समाधान विषय पर उद्बोधन के साथ होगी... कार्यक्रम का समापन 5 जून
को 6 बजे उत्तराखंड के कर्मठ पर्यावरण सामाजिक कार्यकर्ता पद्मभूषण डॉ अनिल जोशी फेसबुक लाइव से हमारी पृथ्वी व जैव विविधता का संरक्षण उद्बोधन से प्रेरित करेंगे !

सप्ताह भर के कार्यक्रम इस प्रकार है:

31 मई
5.00 -5.15 डॉ
जनक पलटा मगिलिगन स्वागत और जैव विविधता बनाए रखने के लिए आवाहन

5.15 - 5.45
: डॉक्टर वंदना शिवा,{विश्व विख्यात जैव विविधता विशेषज्ञ}
मुख्य अतिथि उद्बोधन


जैव विविधता: भारत के लिए चुनौतियां और समाधान”



1 जून, 2020 5.00-5.15 : श्री प्रेम जोशी-जैविक खेती गुरु मध्यप्रदेश में जैव विविधता संकट और उपचार

5.15-5.30
सेवानिवृत्त ले.कर्नल अनुराग शुक्ला जैव-विविधता फार्मर , ग्रामीण मध्य प्रदेश
में जैव विविधता प्रबंधन















2
जून 2, 2020 5.00 -5. 30

श्री समीर शर्मा
{मेंटर सस्टेनेबल स्टार्ट अप्स}

















जैव विविधता के लिए सस्टेनेबल टेक्नोलॉजी

3
जून, 2020
5.00 -5.15
डॉ ओ.पी. जोशी पर्यावरणविद व वनस्पति शास्त्री इंदौर क्षेत्र के पेड़ों का इतिहास








5.15 -530. श्री अंबरीश केला, वृक्षमित्र - ग्रीन हीरो
इंदौर क्षेत्र में जैव विविधता के लिए













पेड़-पौधों पानी व मिटटी
का संरक्षण

4 जून 5.00 -5.15 बजे

डॉ जयश्री सिक्का

प्रोफेसर वनस्पति शास्त्र इंदौर क्षेत्र की वनस्पतियां व उनका संरक्षण
5.15 -5.30
श्री देव वासुदेवन
इंदौर क्षेत्र के जानवर, वन्य प्राणी व जीव जन्तु व जैव
विविधता
5 जून
6- 6,30 पद्मभूषण अनिल जोशी
मुख्य अतिथि विश्व पर्यावरण दिवस हमारी पृथ्वी व जैव
विविधता
6.30-6.45. जनक पलटा मगिलिगन
आयोज

संवाद की संक्षिप्त रिपोर्ट व आभार



और भी पढ़ें :