विदेशों में घुलती भारतीय व्यंजनों की महक

India Independence Day
राजश्री कासलीवाल|
ND

भारत को आजाद हुए 62 वर्ष पूर्ण हो चुके हैं। भार‍त ने चारों ओर अपने पराक्रम और भारतीय संस्कृति का परचम लहराया है। इससे संपूर्ण विश्व मंडल के पटल पर भार‍त छा गया है। चाहे वो आईटी क्षेत्र हो, व्यापार हो या फिर हम इंडियन फूड की ही बात क्यों न करें। आजादी के बाद अब भारतीय व्यंजनों ने भी विदेशों में अपनी महक का जलवा दिखाया है।

वहाँ निवास कर रहे हमारे भारतीय मूल के बाशिंदों ने में रहने के बावजूद भारतीय खान-पान को, भारतीय त्योहारों को समुचित महत्व दिया है। यह हमारे लिए कम गर्व की बात नहीं है। विदेशों में जॉब के सिलसिले में गए परिवार भी भारतीय फूड और यहाँ के संस्कारों को प्राथमिकता देते हैं। आज विदेशों में सिर्फ कॉन्टिनेंटल ही नहीं भार‍‍त के आम व्यंजनों का विदेशी भी बड़ी चाव से लुत्फ उठाते हैं।
भारतीय दाल-बाफलों की महक विदेशों में :-
वैसे तो दुनियाभर में भारतीयों द्वारा स्थापित किए गए शॉपिंग मॉल और रेस्टोरेंट की धूम है, लेकिन अमेरिका के टोपेका में भारतीय रेस्टोरेंट को त्योहारों के मद्देनजर नया लुक दिया जाता रहा है। जहाँ भारतीयों की पसंद का हर सामान उपलब्ध करवाने के साथ-साथ वहाँ के रेस्टोरेंटों में दाल-बाफले विशेष तौर पर बनवाए जाते हैं और अब तो विदेशी भी भारतीय खाने को चटखारे लेकर खा रहे हैं।
धूम मचा रहा है चिकन टिक्का :-
Indaian Foods
ND
हाल के वर्षो में कई भारतीय व्यंजनों के अलावा विदेशी मुगलाई व्यंजन भी खाने और पसंद करने लगे हैं। इसका श्रेय निश्चय ही उन बहुत सारे भारतीय रेस्तराँओं को जाता है जो जगह-जगह खुल गए हैं। खाने के व्यंजनों में भारतीय शेफ द्वारा तैयार की गई चिकन टिक्का, चिकन तंदूरी और बिरयानी का भी खासा रौब ब्रिटेनी विदेशियों पर छा रहा है।
नमकीन को विदेश में प्रसिद्धि :-
बीकानेरी, हल्दीराम के भुजिए, नमकीन का स्वाद विदेशों में बसे भारतीयों के मुँह में पानी ला देता है। यहाँ से जाने वाले रिश्तेदार, परिचित उनके लिए नमकीन ले जाना नहीं भूलते और अगर भूल जाते हैं तो यात्रा नमकीन नहीं रह जाती। इसी नमकीन के दीवाने ‍दुनियाभर में बिखरे हुए हैं। इसके मद्देनजर केंद्र सरकार ने मंदी के बावजूद फलते-फूलते स्थानीय उद्योग को बढ़ावा देने के लिए यहाँ नमकीन क्लस्टर बनाने का निर्णय लिया है। इससे व्यापारियों को नमकीन के निर्यात में आसानी होगी।
विदेश में भारतीय रेस्तराँ को पुरस्कार :-
ND
कुछ ही समय पूर्व ब्रिटेन में बर्मिंघम स्थित एक प्रसिद्ध भारतीय रेस्तराँ 'लासन' को स्वस्थ खानपान उपलब्ध कराने वाले सर्वश्रेष्ठ रेस्तराँओं में से एक के रूप में चुना गया था। 'हेल्दीएस्ट रेस्टोरेंट्स अवॉर्ड 2009' से सम्मान प्राप्त करने वाले इस रेस्तराँ की जमकर तारीफ की गई थी। ब्रिटेन में 10 शीर्ष भारतीय रेस्तराँओं की सूची में भी शामिल लासन रेस्तराँ पहले भी कई अन्य पुरस्कार जीत चुका है। पिछले वर्ष इस रेस्तराँ को एशियन बिजनेस अवॉर्ड्स समारोह में साल का सर्वश्रेष्ठ हॉस्पिटीलिटी बिजनेस पुरस्कार मिला तथा टेस्ट ऑफ बर्मिंघम समारोह में इसे सर्वश्रेष्ठ सेवा प्रदाता और उभरते रेस्तराँ के रूप में नवाजा गया।
विदेशों में भारतीय शेफ्स की काफी माँग रहती है। हालाँकि खाना बनाना महिला जगत का कार्य माना जाता है, लेकिन होटल की रसोई पुरुषों से भरी रहती है। कुल मिलाकर रसोई को करियर के रूप में चुनकर ‍‍विदेशों में इंडियन फूड्‍स का नाम और ऊँचा कर भारत का नाम रोशन किया जा रहा है।



और भी पढ़ें :