होलिका दहन और पूजन के शुभ मुहूर्त के साथ जानिए पौराणिक नियम भी...


वर्ष 2019 में होलिका दहन 20 मार्च 2019 बुधवार को संपन्न होगा। अगले दिन यानी, 21 मार्च 2019, गुरुवार को रंगवाली होली मनाई जाएगी।

20 मार्च, 2019 (बुधवार)

होलिका दहन मुहूर्त :20:58:38 से 24:23:45 तक

अवधि :3 घंटे 25 मिनट

भद्रा पूंछ :17:34:15 से 18:35:34 तक
भद्रा मुख :18:35:34 से 20:17:45 तक

रंग वाली होली 21 मार्च 2019 को मनाई जाएगी।



होलिका दहन के यह हैं 5 शास्त्रोक्त और पौरा‍णिक नियम

फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से फाल्गुन पूर्णिमा तक के अंतराल को होलाष्टक माना जाता है, जिसमे सभी शुभ कार्य वर्जित रहते है। इसीलिए पूर्णिमा के दिन होलिका-दहन किया जाता है। जानिए,पौरा‍णिक नियम...

1. पहला, उस दिन भद्रा न हो क्योंकि भद्रा का ही एक दूसरा नाम विष्टि करण भी है, जो 11 कारणों में से एक है। और एक करण तिथि के आधे भाग के बराबर होता है।

2. दूसरा, पूर्णिमा प्रदोषकाल-व्यापिनी होनी चाहिए। अर्थात उस दिन सूर्यास्त के बाद के तीन मुहूर्तो में पूर्णिमा तिथि होनी चाहिए।

3. होलिका दहन शुभ और शुद्ध मुहूर्त में ही होना चाहिए।

4. होली के पूजन में नारियल और गेंहूं की बालियां चढ़ाना सबसे शुभ और शास्त्रसम्मत माना गया है।

5. होली पर तंत्र क्रियाएं नहीं करना चाहते हैं तो सबसे सरल उपाय है गोमती चक्र को अपने ऊपर से 7 बार बार कर होली में डालें और होली की भस्म को चांदी की डिबिया में घर की तिजोरी में रखें।



 

और भी पढ़ें :