भाद्रपद मास के प्रमुख तीज, त्योहार, दिवस और शुभ तिथियां

: 12 अगस्त 2022 से भाद्र मास प्रारंभ हो गया है जो 10 सितंबर 2022 तक रहेगा। हिन्दू माह का यह छठा महीना है। इस माह कई खास तीज-त्योहार, व्रत, दिवस, शुभ तिथियां रहती हैं। खास त्योहार में हरतालिका तीज, गणेश चतुर्थी, जन्माष्टमी, जैन पयुर्षण पर्व और अनंत चतुर्दशी का त्योहार रहता है।

इसी महीने में अष्टमी तिथि के दिन भगवान श्रीकृष्ण ने रोहिणी नक्षत्र और वृष लग्न में जन्म लिया था। अत: इस माह का महत्व और अधिक बढ़ गया है। इसी के साथ इस माह हरतालिका तीज, जैन पयुर्षण पर्व, अजा एकादशी, श्री गणेश चतुर्थी आदि भी रहेंगे।

12 अगस्त : इसी दिन से पंचक प्रारंभ होगा। षोडषकारण प्रारंभ। कजलियां, स्नान दान पूर्णिमा।
14 अगस्त : कजरी तीज- भाद्रपद कृष्ण तृतीया, रविवार, 14 अगस्त को कजरी तीज का पर्व पड़ रहा है। इसे भादौ तीज भी कहा जाता है। इस दिन सुहागिनें अपने पति की लंबी उम्र की कामना से व्रत रखती हैं।


15 अगस्त : संकष्टी गणेश चतुर्थी, हेरम्ब संकष्टी चतुर्थी के साथ ही स्वतंत्रता दिवस रहेगा। इसी दिन बुला चौथ, महाकाल सवारी और महर्षि अरविंद की जयंती भी रहेगी।
16 अगस्त :
16 अगस्त २०२२ : रक्षा पंचमी, गोगा पचंमी, भाई भिन्ना पर्व, पारसी नववर्ष, अवंतिबाई जयंती, अटल बिहारी वाजपेयी पुण्यतिथि।

17 अगस्त : बलराम जयंती, हलछठ, हरछठ पर्व मनाया जाएगा। यह त्योहार भाद्रपद कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि को मनाया जाता है। इसी दिन सूर्य सिंह में प्रवेश करेगा। मदललाल धींगरा दिवस रहेगा।

18 अगस्त :
जन्माष्टमी तिथि प्रारंभ। सौर भाद्रपद मास प्रारंभ।
Lord Krishna Worship
19 अगस्त : श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, कालाष्टमी और वर्ल्ड फोटोग्राफी दिवस।
20 अगस्त : जैन धर्म का रोहिणी व्रत, हिन्दू धर्म की गोगा नवमी। राजीव गांधी जयंती, सद्भावना दिवस।

22 अगस्त : वैष्णव आज एकादशी, अजा एकादशी। महाकाल सवारी उज्जैन।

23 अगस्त : जया और अजा एकादशी का व्रत। बछ बारस, गोवत्स, ओम द्वादशी।

24 अगस्त : प्रदोष व्रत, श्वेतांबर जैन पर्यूषण पर्व प्रारंभ।

25 अगस्त : मासिक शिवरात्रि, शिव कृष्ण चतुर्दशी।
26 अगस्त : श्राद्ध अमावस्या प्रारंभ, मदर टेरेसा जयंती।

27 अगस्त : भाद्र अमावस्या, पेला पिठोरा या पिठौरी अमावस्या, कुशोत्पाठिनी अमावस्या।

28 अगस्त : चंद्र दर्शन, महावीर जन्मवाचन, मुहर्रम समाप्त, तान्हा पोला, श्री गुरुग्रंथ साहिब प्रकाशोत्सव।

29 अगस्त : सोमवार व्रत, बाबू दूज, सफर माह प्रारंभ, श्रीरामदेव पीर जयंती, राष्ट्रीय खेल दिवस, मेजर ध्यानचंद जयंती।
30 अगस्त : हरतालिका तीज, वाराह जयंती, चंद्र दर्शन, जैन रोटीतीज चौथ चांद।

31 अगस्त : वरद चतुर्थी, गणेशोत्सव, गणेश स्थापना दिवस, दिगंबर जैन पर्यूषण पर्व प्रारंभ, विनायक चतुर्थी।

1 सितंबर : ऋषि पंचमी।

2 सितंबर : संतान सातें, मोरबाई छठ, मुक्ताभरण सप्तमी।

3 सितंबर : महालक्ष्मी व्रत प्रारंभ, दुर्गष्टमी, राधा अष्टमी।
4 सितंबर : द‍धीचि जयंती, श्रीचंद्र नवमी।

5 सितंबर : शिक्षक दिवस, तेजा दशमी।

6 सितंबर : डोल ग्यारस, जलझूलन एकादशी, परिवर्तनी एकादशी, विश्वकर्मा पूजा।

7 सितंबर : श्रवण द्वादशी, वामन द्वादशी, अगस्तोदय।

8 सितंबर : शुक्ल पक्ष का प्रदोष, ओणम। पंचक प्रारंभ।

9 सितंबर : अनंत चतुर्दशी, गणेश मूर्ति विसर्जन।
10 सितंबर : भाद्र पूर्णिमा, गुर्जर रोट पूजन, गुरु अमरदास पुण्यतिथि।

इसके बाद 11 सितंबर से पितृपक्ष यानी श्राद्ध का पर्व प्रारंभ हो जाएगा।




और भी पढ़ें :