बॉलीवुड की फिल्मों में कोरोना के डायलॉग : हंस देंगे जोक पढ़ कर


अगर बॉलीवुड की फिल्में 'कोरोना' पे बनती तो कैसे डायलॉग होते?

शोले
ये मास्क मुझे दे दे ठाकुर.

दीवार
मेरे पास मास्क है, सेनिटाइजर है, ईन्श्योरन्स है, बेंक बेलेन्स है, तुम्हारे पास क्या है?





- मेरे पास कोरोना वैक्सीन है....

दबंग
कोविड से डर नहीं लगता साहब,
लॉकडाउन से लगता है.

बाजीराव मस्तानी
अगर आपने हमसे हमारा सेनिटाईजर मांगा होता तो हम खुशी खुशी दे देते, मगर आपने तो मास्क ना पहनकर हमारा गुरूर ही तोड़ दिया.
डॉन
कोरोना की वैक्सीन तो ग्यारह मुल्कों की डॉक्टर्स ढूंढ रही है, पर वेक्सिन को ढूँढना मुश्किल ही नही, नामुमकिन है.

देवदास
कौन कमबख्त है जो बर्दाश्त करने के लिये पीता है? हम तो इसलिए पीते हैं कि देश की इकोनोमी ऊपर उठा सकें, लॉकडाउन को बर्दाश्त कर सकें.....

दामिनी
तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख!
हमेशा अगले लॉकडाउन की तारीख ही मिलती रही है मिलोर्ड, पर नहीं मिली तो लॉकडाउन की आखिरी तारीख!
ओम शांति ओम
अगर कोरोना के नए केस आने बंद नहीं हुए तो समझ लो कि लॉकडाउन अभी बाकी है मेरे दोस्त.

मुगल-ए-आजम
सोशल डिस्टन्सिंग तुम्हें मरने नहीं देगा और लॉकडाउन तुम्हें जीने नहीं देगा.

पाकीज़ा
आपके पाँव देखे, बहोत हसीन हैं,
इन्हें घर पर ही रखिएगा,
वरना कोरोना हो जाएगा.



और भी पढ़ें :