शर्तिया हंसा-हंसा कर थका देगा यह चुटकुला : जरा ठहरो, मैं कपड़े उतार रही हूं....


एक बस कडंक्टर ने जैसे ही बस चलाने के लिए घंटी बजाई तो पीछे से एक बड़ी मीठी सी आवाज आई, जरा ठहरो,
मैं कपड़े उतार रही हूं ...

बस फिर क्या था बस में बैठे सारे लोगों के दिल धड़कने लगे, सबने एक साथ पीछे मुड़कर देखा ....

धोबन अपने कपड़ों की गठरी उतार रही थीं।

 

और भी पढ़ें :