बारिश में कान की बीमारियों से बचने के लिए रखें इन 5 बातों का ध्यान

kaan chidwane ke fayde

वैसे तो में किसी भी मौसम में हो सकता है पर बारिश में इसकी संभावनाएं बढ़ जाती है। इस मौसम में कानों का भी ध्यान रखना चाहिए क्योंकि वह शरीर का एक संवेदनशील नाजुक अंग है। कान में दर्द की समस्या बारिश में बहुत परेशान करती है, इसके लिए कुछ सावधानियां रख कर इनसे बचा जा सकता है। आइए जानते हैं -

1 बारिश में नहाते समय कान में रुई लगाना चाहिए। इससे कानों में पानी नहीं जा पाता। इस मौसम में पानी दूषित हो जाता है और उसमें बैक्टेरिया भी होते हैं। ऐसे में रुई के कारण वह अंदर जाकर संक्रमण नहीं फैला पाएंगे।

2 जब भी खुजलाहट हो या कान को साफ करना हो तो तीली, चाबी, हेयर पिन, इत्यादि का उपयोग बिलकुल भी ना करें। यह कानों में संक्रमण फैलने का मुख्य कारण होता है।
3 कई बार नहाने के बाद ठीक से कान नहीं पोंछते हैं, जिस कारण वहां मौजूद साबुन के झाग साफ नहीं होते हैं। बारिश के मौसम में वातावरण में नमी बनी रहती है इसलिए उस नमी के कारण इन्फेक्शन का खतरा भी बन जाता है।

4 बारिश में भीगने के कारण उसका असर गले और नाक के साथ-साथ कानों पर भी होता है। इससे सर्दी-जुकाम के कारण कान दर्द की समस्या होती है।
5 कई बार पुरानी एलर्जी के कारण भी बारिश के मौसम में नमी और ठंडक के कारण परेशानियां होती है। अगर कान में दर्द की समस्या बनी रहती है तो चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।



और भी पढ़ें :