Winter में काली मिर्च के उजले गुण चौंका देंगे आपको

पुनः संशोधित शनिवार, 4 दिसंबर 2021 (13:41 IST)

भारतीय रसोई में खाने का स्वाद बढ़ाने की ताकत तो होती है। लेकिन इसके साथ ही लाइलाज बीमारियों की दवा भी होती है। जी हां, रसोई कई

सारी ऐसी सामग्री है जिनका नियमित रूप से सेवन करने से बीमारियों को जड़ से खत्म किया जा सकता है। काली मिर्च का भी ऐसा कमाल है।
आइए जानते हैं में काली मिर्च के 10 अनमोल फायदे -

- दांतों को रखे स्वस्थ - इसका सेवन करने से मसूड़ों में सूजन और सांस की बदबू की समस्या से निजात मिल सकती है। इसके लिए एक चुटकी नमक और एक चुटकी काली मिर्च को पानी में मिलाकर अपने मसूड़ों पर मलें। इससे जल्‍दी आराम मिलेगा।

- तनाव में दें राहत - अगर आप सर्दी के मौसम में तनाव से जूझ रहे हैं तो काली मिर्च का सेवन करें। इसके सेवन से सेरोटोनिन हार्मोन बनताहै। जो आपके मूड को अच्‍छा रखता है। दरअसल सेरोटोनिन केमिकल कम होने पर आप ठंड में तेजी से तनाव बढ़ता है। इसलिए अपने किसी भी

तरह से काली मिर्च का सेवन जरूर करें।


स्वाद में लगाएं चार-चांद - अक्‍सर चाट या पापड़ फ्राय करते हैं तो कुछ मसाला की जरूरत लगती है। जिससे खाने में तीखापन बढ़ जाएं। ऐसे में आप जरूर करें। इससे आपको अलग से कोई मसाला नहीं बनाना होगा।

खांसी जुकाम में : काली मिर्च इतना फायदा पहुंचाती है कि खांसी जुकाम से राहत दिलाने वाले कफ सिरप में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद और अदरक के रस के साथ चुटकी भर काली मिर्च लेने से कफ कम होता है। चाय में मिला कर पीने से
भी फायदा मिलता है।

कैंसर से बचाव : यूनिवर्सिटी ऑफ मिशीगन द्वारा की गयी एक स्टडी के अनुसार काली मिर्च में पिपेरीन नाम का रसायन होता है, जो कैंसर से लड़ने में मददगार होता है। रिपोर्ट के अनुसार अगर काली मिर्च को हल्दी के साथ लिया जाए, तो इसका असर और भी ज्यादा होता है। खास कर
महिलाओं में यह ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम के लिए अच्छा है।

मांसपेशियों का दर्द : काली मिर्च में मौजूद पिपेरीन के कारण रक्तसंचार बढ़ता है। इससे मांसपेशियों के दर्द से निजात मिलता है। तेल को हल्कागर्म कर के उसमें काली मिर्च मिलाएं और पीठ और कंधों की इससे मालिश करें। गठिया रोग में भी काली मिर्च काफी फायदेमंद साबित होती है।


हाजमे के लिए : काली मिर्च के कारण पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड ज्यादा पैदा होता है, जो हाजमे में मददगार होता है। इससे पेट में दर्द, पेट के फूलने और कब्ज में भी राहत मिलती है। अगर आपको एसिडिटी और गैस की समस्या है, तो लाल मिर्च को छोड़ दें और काली मिर्च का इस्तेमालशुरू करें।

चेहरे पर निखार : मोटी पिसी काली मिर्च को चीनी और तेल के साथ मिला कर, इसे चेहरा पर मलें। इससे ना केवल चेहरे की गंदगी हटेगी, बल्कि काली मिर्च के कारण रक्त संचार भी तेज होता है और चेहरे पर निखार आता है।

वजन संभाले : एक शोध के मुताबिक काली मिर्च शरीर की वसा को कम करने का भी काम करती है। इससे पाचन प्रक्रिया तेज होती है और कम समय में अधिक कैलोरी खर्च होती है। साथ ही यह शरीर से टॉक्सिन्स को निकाल बाहर करने में भी कारगर है।

सुंदर बालों के लिए : अगर आपको रूसी की समस्या है, तो दही में काली मिर्च मिलाकर इससे सिर की मालिश करें। आधे घंटे बाद पानी से इसे धो लें। तुरंत शैंपू का इस्तेमाल ना करें। इससे रूसी भी कम होगी और बाल भी चमकेंगे। ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा काली मिर्च ना डालें, नहीं तोजलन होने लगेगी।



और भी पढ़ें :