Friendship Day Movie Dialogues : फ्रेंडशिप डायलॉग पसंद आएंगे आपको भी

जानिए आपकी दोस्ती और भी ज्यादा पक्की करने वाले हिन्दी फिल्मों के ये डायलॉग-

Friendship Day Movie Dialogues

1. फिल्म- मैंने प्यार किया
दोस्ती का एक उसूल होता है मैडम, नो सॉरी नो थैंक्यू।

2. फिल्म- वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई दोबारा
सच्चे दोस्त आंसुओं की तरह होते हैं, यहां दिल उदास हुआ वहां वो आ गए।
3. फिल्म- वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई दोबारा
अपनी दोस्ती टायर और ट्यूब जैसी है, हवा तेरी निकलती है और बैठ मैं जाता हूं।

4. फिल्म- चश्मे बद्दूर
चाहे मर जाएं हम फिर भी मरहम लगाकर जाएंगे। दोस्त के दिल से उतर कर नहीं, दोस्त के दिल में उतर के जाएंगे।
5. फिल्म- पाठशाला
दोस्ती की भाषा सबसे अलग होती है, वो सिर्फ दिल की बात सुनती है।

6. फिल्म- एनीबडी कैन डांस

दोस्ती वो होती है जो जीना सिखाती है मरना नहीं।

7. फिल्म- पुरानी जीन्स
ज़िन्दगी में दोस्त तो कई आते हैं, मगर पुराने उस जीन्स की तरह होते हैं, जिसे पहनते ही, यू बिकम फ्री- फ्री टू बी योरसेल्फ।
8. फिल्म- सौदागर
दोस्ती रिश्तों से नहीं, दिल से पैदा होती है।

9. फिल्म- आतिश
ज़िंदगी में तूफान आए, कयामत आए, मगर कभी दोस्ती में दरार न आने पाए।

10. फिल्म- ये रास्ते हैं प्यार के
सच्चा दोस्त तो वो होता है, जो दोस्त की गलती को अपनी गलती समझकर माफ कर दें।

प्रस्तुति : अनुभूति निगम



और भी पढ़ें :