Defence expo 2020 : सेना का पराक्रम देख नवाब नगरी का जोश हाई

Defense Expo 2020
पुनः संशोधित शनिवार, 8 फ़रवरी 2020 (20:18 IST)
लखनऊ। भारतीय सेना (Indian Army) के प्रति दीवानगी नवाब नगरी (Lucknow) में शनिवार को सिर चढ़कर बोली जब डिफेंस एक्सपो 2020 (Defence expo 2020) के चौथे दिन शनिवार को सैन्यबलों के पराक्रम को देखने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा और करीब 7 घंटे एक्सपो स्थल और आसपास के क्षेत्र में रफ्तार सुस्त पड़ गई।
5 दिवसीय डिफेंस एक्सपो का आगाज 5 फरवरी को हुआ था जिसमें रूस और अमेरिका समेत 70 देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। शुरू के 3 दिन 200 से अधिक एमओयू पर हस्ताक्षर हुए, जबकि शनिवार और रविवार को एक्सपो में आम लोगों के प्रवेश की निशुल्क व्यवस्था की गई थी।

थल और वायुसेना के जांबाजों ने वृंदावन सेक्टर 15 स्थित एक्सपो स्थल पर सुबह 12 से 12.45 बजे और शाम 3.30 से 4 बजे तक अपने पराक्रम का प्रदर्शन किया जबकि गोमती रिवर फ्रंट पर नौसेना ने सुबह 11 से एक बजे तक और दोपहर 2.15 से 5.30 बजे तक अपने जौहर दिखाकर जनता को सुरक्षा का भरोसा दिलाया।

रविवार को हालांकि सैन्यबलों का एक ही शो आयोजित किया जाएगा। वृंदावन में 12 बजे से 12.45 बजे तक थल और वायुसैनिक अपना पराक्रम दिखाएंगे जबकि नौसेना गोमती रिवर फ्रंट पर 11 बजे से एक बजे तक प्रदर्शन करेगी। एक्सपो का समापन दोपहर डेढ़ बजे हो जाएगा।

भारतीय जांबाजों के अतुलनीय शौर्य और पराक्रम को देखने के लिए सुबह से ही एक्सपो स्थल के लिए लोगों का हुजूम उमड़ने लगा था। बच्चे, जवान, महिलाएं और बुजुर्ग कदमताल मिलाते हुए एक्सपो स्थल की ओर बढ़े चले जा रहे थे और सुबह 10 बजे तक आयोजन स्थल दर्शकों से खचाखच भर गया था। जिला प्रशासन और सेना ने भीड़ की आशंका के मद्देनजर जरूरी इंतजाम किए थे।

सेना के लाइव शो शुरू होते ही एक्सपो स्थल 'भारत माता की जय' और 'इंकलाब जिंदाबाद' के नारों से गुंजायमान हो गया। शो के स्थान पर तिल रखने की जगह नहीं थी तो लोग आसपास की सड़कों पर खड़े होकर फ्लाइंग पास्ट को निहार रहे थे और टैंकों द्वारा किए जा रहे हर धमाके पर नारे लगाकर सेना के प्रति अपनी दीवानगी का इजहार कर रहे थे।

देशप्रेम की भावना से ओतप्रोत जनता का उत्साह देखकर सुरक्षाबल भी उनके प्रति सम्मान का प्रदर्शन कर रहे थे। युवाओं और बच्चे सैन्य उपकरणों और जवानों के साथ सेल्फी ले रहे थे। समूचे स्थल में अपार जनसमूह के चलते चलना-फिरना मुश्किल था। इस दौरान सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम रहे, लेकिन आम जनता को इससे कोई सरोकार नहीं था, वे तो बस सैन्यबलों और उपकरणों को इतनी नजदीकी से देखने का लुत्फ जमकर उठाने में मगन रहे।

सुरक्षा की दृष्टि से वाहन पार्किंग को आयोजन स्थल से दूर बनाया गया था जिससे लोगों को काफी काफी दूर तक पैदल चलना पड़ा, जिसके बाद लंबी कतारों में लगकर घंटों इंतजार के बाद एक्सपो स्थल में प्रवेश मिला। जिला प्रशासन ने एक्सपो स्थल पर पहुंचने के लिए अलग-अलग स्थानों से मुफ्त बसों का इंतजाम किया था, लेकिन उनकी पार्किंग भी काफी दूर थी।

एक्सपो स्थल पर फास्ट फूड और काफी के गिने-चुने स्टाल होने के कारण लोगों को खासी दुश्वारियों का सामना करना पड़ा, वहीं पीने के पानी के लिए भी मारामारी मची रही। आयोजन स्थल के आसपास मेले जैसे दृश्य थे। कई खोमचे वाले मनमाने दामों पर खाद्य पदार्थ उपलब्ध करा रहे थे।

दिन के कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद तेलीबाग, पीजीआई के आसपास मीलों लंबा जाम लग गया। घंटों तक वाहन जाम में फंसे रहे जिसमें कई एंबुलेंस भी शामिल थीं। हालांकि लंबी थकान के बाद लोगों के चेहरे जवानों से मिलकर खुशी के मारे दमक रहे थे।


और भी पढ़ें :