• Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. कोरोना वायरस
  4. Preparation of 5000 health assistants started in Delhi
Written By
Last Modified: मंगलवार, 29 जून 2021 (01:28 IST)

COVID-19 : दिल्ली में 5000 हेल्थ असिस्टेंट तैयार करने की हुई शुरुआत

COVID-19 : दिल्ली में 5000 हेल्थ असिस्टेंट तैयार करने की हुई शुरुआत - Preparation of 5000 health assistants started in Delhi
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार कोरोनावायरस (Coronavirus) की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों को मद्देनजर 
5000 कम्युनिटी हेल्थ असिस्टेंट को प्रशिक्षण देने की योजना के तहत सोमवार को 500 लोगों को प्रशिक्षित करने की शुरुआत की गई।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हम दिल्ली में एक ऐसे मेडिकल यूथ फ़ोर्स को तैयार करना चाहते हैं जो किसी भी स्वास्थ्य आपदा से लड़ने के लिए तैयार रहे। उन्होंने कहा कि इस प्रशिक्षण के बाद हमारे हेल्थ असिस्टेंट न केवल आपदा से लड़ने के लिए तैयार होंगे बल्कि सामान्य दिनों में ज़रूरत पड़ने पर अपने परिवारजनों और आसपास के लोगों को भी मेडिकल सहायता दे पाएंगे।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए चार दिन के भीतर ही 1.5 लाख लोगों ने आवेदन किया। ये इस कोर्स के प्रति लोगों के उत्साह को दिखाता है। उन्होंने कहा कि पहले चरण में 5000 लोगों को प्रशिक्षण दिया जाएगा, लेकिन हमारा प्रयास रहेगा कि हम चरणबद्ध तरीके से बाकी के लोगों को भी प्रशिक्षण दें।

स्वास्थ्य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए इस ट्रेनिंग कोर्स की बहुत ज़्यादा ज़रूरत है। ये प्रशिक्षण हमारे प्रशिक्षितों के लिए रोजगार के अवसर भी खोलेगा, क्योंकि स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में काफी बड़े स्तर पर हेल्थ असिस्टेंट की ज़रूरत है।

गुरु गोविंद सिंह आईपी विश्वविद्यालय द्वारा 5000 कम्युनिटी हेल्थ असिस्टेंट को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस कोर्स का पहला बैच शुरु हो चुका है। ये हेल्थ असिस्टेंट डॉक्टरों और नर्सों के असिस्टेंट के रूप में काम करेंगे। इस कार्यक्रम में 500 ट्रेनीज को कई तरह के काम जैसे पैरामेडिक, लाइफ सेविंग, फर्स्ट एड, होम केयर की ट्रेनिंग दी जाएगी।
इन्हें ऑक्सीजन नापने, ब्लड प्रेशर नापने, इंजेक्शन लगाने, कैथेटर, सैंपल कलेक्शन, ऑक्सीजन सिलेंडर, मास्क लगाने जैसे काम सिखाए जाएंगे। चौदह दिन के इस प्रशिक्षण को दो चरणों में बांटा जाएगा। पहले चरण में ट्रेनीज को एक सप्ताह तक डेमोंस्ट्रेशन क्लास के ज़रिए बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी और उसके अगले सप्ताह अस्पतालों में असिस्टेंट के रूप में काम सिखाया जाएगा।
ट्रेनीज को दिल्ली के नौ बड़े अस्पतालों दीन दयाल उपाध्याय हॉस्पिटल, राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल, राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय, संजय गांधी हॉस्पिटल, अम्बेडकर मेडिकल कॉलेज, ईएसआई हॉस्पिटल वसई धारापुर,हिंदूराव अस्पताल एवं वर्धमान महावीर हॉस्पिटल में बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी। दिल्ली सरकार ने इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए पांच करोड़ रुपए जारी किए हैं।
दिल्ली सरकार 500-500 के दस बैच में 5000 कम्युनिटी हेल्थ असिस्टेंट को ट्रेनिंग देगी। ट्रेनिंग के बाद सभी हेल्थ असिस्टेंट को एक सर्टिफिकेट के साथ मेडिकल किट भी दिया जाएगा। इस मेडिकल किट में ब्लड प्रेशर जांचने की मशीन, थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर होगा।(वार्ता)
ये भी पढ़ें
Oxford-AstraZeneca ने Corona के बीटा स्वरूप के लिए शुरू किया 'वैक्सीन ट्रॉयल'