Lockdown in India : पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, PM मोदी के भाषण की 20 बड़ी बातें

पुनः संशोधित मंगलवार, 24 मार्च 2020 (21:13 IST)
कोरोनावायरस (Coronavirus) की रोकथाम के लिए आज रात 12 बजे से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया गया है. इसका ऐलान पीएम मोदी ने किया है उन्होंने कहा कि 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइए। पीएम के संबोधन की 20 बड़ी बातें-

1. हर भारतीय ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में योगदान दिया है।
2. 22 मार्च को जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए आप सभी सराहना के हकदार हैं।
3. कोरोना वायरस ने कई शक्तिशाली देशों को असहाय कर दिया है, तमाम प्रयासों के बावजूद चुनौतियां बढ़ रही हैं।
4. विशेषज्ञ कह रहे हैं कि ‘सामाजिक मेलजोल से दूरी’ कोरोना वायरस से निपटने का एकमात्र तरीका है।
5. सामाजिक मेल जोल से दूरी केवल संक्रमित लोगों के लिए नहीं है, बल्कि प्रधानमंत्री सहित हर नागरिक के लिए है।
6. अगर हम भारत में सामाजिक मेलजोल से दूर रहने में लापरवाही बरतेंगे, तो हमें इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।
7. आज रात 12 बजे से होगा।
8. यह लॉकडाउन एक तरह का कर्फ्यू है और यह जनता कर्फ्यू के मुकाबले ज्यादा कठोर होगा।
9. इस लॉकडाउन के कारण हो सकता है कि हमें आर्थिक नुकसान हो, लेकिन लोगों की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है।
10. यह राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 21 दिन का होगा, जो आज मध्यरात्रि से शुरू होगा।
11. बाहर एक कदम ना रखें, इससे आपके घर में कोरोना वायरस आ सकता है।
12. मैं हाथ जोड़कर, लोगों से अपील करता हूं कि वे अपने घरों से बाहर ना जाएं।
13. अगर हम 21 दिन तक राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का पालन नहीं करेंगे तो, हम 21 साल पीछे धकेल दिये जाएंगे।
14. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के दौरान एक पोस्टर दिखाते हुए कहा कि ‘कोरोना’ का मतलब है, ‘कोई रोड पर ना निकले।’
15. यह धैर्य और अनुशासन का समय है, मैं आपसे हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि हमारी सुरक्षा के लिए जो लोग अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं उनके बारे में सोचें।
16. केन्द्र और राज्य सरकारें आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए हर संभव कदम उठा रही हैं।
17. केन्द्र ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत बनाने के लिए 15,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।
18. मैंने सभी राज्यों से अनुरोध किया है कि इन हालात में स्वास्थ्य सेवाएं पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।
19. अफवाहों और अंधविश्वास पर भरोसा न करें, डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा ना लें।
20. लोगों से अपना और अपने परिवार का ध्यान रखने की अपील करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि ‘मुझे भरोसा है कि हम इस चुनौती से विजेता बनकर उभरेंगे।’


और भी पढ़ें :