दिल्ली में 24 घंटे में सामने आए रिकॉर्ड 6,725 नए मामले

Last Updated: मंगलवार, 3 नवंबर 2020 (23:47 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को के संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 6,725 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का कुल आंकड़ा 4 लाख के पार पहुंच गया। दिल्ली में पहली बार कोविड-19 के 6,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इसके पहले शुक्रवार को दिल्ली में संक्रमण के 5,891 नए मामले सामने आए थे।
ALSO READ:
आठ को छोड़ सभी राज्यों में घटे कोरोना के Active Case
दिल्ली सरकार द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक राजधानी में संक्रमण के कारण 48 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 6,652 हो गई। सोमवार को 59540 नमूनों की जांच के बाद 6,725 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई और संक्रमित होने की दर बढ़कर 11.29 प्रतिशत हो गई। बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में फिलहाल 36,375 मरीजों का इलाज चल रहा है।
दिल्ली में रविवार तक लगातार पांच दिनों तक संक्रमण के 5,000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे जबकि सोमवार को संक्रमण के 4,001 नए मरीज सामने आए। त्योहारों के इस मौसम में लोगों की आवाजाही बढ़ने के कारण संक्रमण के मामलों में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। दिल्ली में संक्रमण के कुल मामलों का आंकड़ा 4,03,096 पहुंच चुका है।
रेस्तरा और बाजारों में सेंपल लेने पर विचार : दिल्ली सरकार बीते कुछ दिन के दौरान कोविड-19 मामलों में भारी वृद्धि के मद्देनजर अपने निगरानी तंत्र को मजबूत बनाने के लिए रेस्तराओं- बाजारों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मौजूद लोगों के सेंपल एकत्रित करने पर विचार कर रही है। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
केन्द्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला की अध्यक्षता में सोमवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति पर विस्तार से चर्चा की गई थी।

गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बैठक के दौरान रेस्तरा, बाजारों और नाई की दुकानों जैसे संवेदनशील स्थानों पर लक्षित आरटी-पीसीआर जांच करने सहित विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने का निर्णय लिया गया था। इसके अलावा एहतियाती तौर पर बिस्तरों, आईसीयू और वेंटिलेटर समेत चिकित्सा संसाधनों की उपलब्धता बढ़ाने का भी फैसला लिया गया था।
दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के एक सूत्र ने कहा कि लक्षित जांच के तहत ऐसे क्षेत्रों में रेस्तरां या बाजारों में नियमित अंतराल पर नमूने एकत्र किए जाते हैं, जहां अधिक मामले सामने आ रहे हों या उन स्थानों पर सुरक्षा नियमों का ठीक ढंग से पालन न किया जा रहा हो। सूत्र ने कहा कि अभी तक ऐसे निर्देश नहीं दिए गए हैं, लेकिन हो सकता है कि जल्द ही इस संबंध में निर्देश जारी किए जाएं।



और भी पढ़ें :