झूठ का सच: जॉन हॉपकिंस की रिपोर्ट, क्‍या 24 करोड़ भारतीयों को हो जाएगा कोरोना वायरस?

corona bouncing back
हाल ही में कुछ भारतीय मीडिया संस्‍थानों दावा किया था कि भारत में बहुत तेजी से बढ रहा है। इन मीडिया संस्‍थानों ने अपनी खबरों में लिखा था कि इस वायरस से कम से कम 24 करोड़ भारतीय संक्रमित हो सकते हैं।
दरअसल, सेंटर फॉर डिजिस डायनॉमिक्‍स और इकॉनॉमिक्‍स एंड पॉलिसी (जॉन हॉपकिंस विश्‍वविद्याल) की रिपोर्ट को आधार बनाकर इस तरह की खबरें जारी की गई थी।
corona virus

लेकिन अब खबर आई है कि जॉन हॉपकिंस विश्‍वविद्याल ने इन खबरों से किनारा कर लिया है। विश्‍वविद्याल ने अपने ट्विटर हैंडल से इस दावे को पूरी तरह से खारिज कर दिया है।

जॉन हॉपकिंस विश्‍वविद्याल के ट्विटर हैंडल से कहा गया कि जिन मिडिया संस्‍थानों ने ये खबरें लिखी हैं, उन्‍हें जॉन हॉपकिंस विश्‍वविद्याल ने अपने लोगों के इस्‍तेमाल की अनुमति नहीं दी है।
corona virus

जॉन हॉपकिंस विश्‍वविद्याल की तरफ से इस ट्वीट के बाद जिन मीडिया संस्‍थानों खबरें लिखी गई थी, उन्‍होंने उन्‍हें तुरंत खबरें हटा ली हैं। वहीं कुछ मीडिया संस्‍थानों ने अपनी इन खबरों में जरुरी फेरबदल किए हैं।
corona virus




और भी पढ़ें :