'अपनापन... बदलते रिश्तों का बंधन' का बदला समय, अब इतने बजे टेलीकास्ट होगा शो

पुनः संशोधित सोमवार, 8 अगस्त 2022 (17:15 IST)
हमें फॉलो करें
टेलीविजन के पारिवारिक ड्रामा 'अपनापन... बदलते रिश्तों का बंधन' ने अपनी कहानी के साथ दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बना ली है, जो रिश्तों की कश्मकश और उलझनों को उजागर करते हुए ज़िंदगी को दूसरा मौका देने पर एक नया नजरिया पेश करता है।


इस शो में सिज़ैन खान और राजश्री ठाकुर एक दूसरे से अलग हो चुके दंपति - निखिल और पल्लवी की भूमिका निभा रहे हैं। यह शो इस दंपति की ज़िंदगी की कहानी दिखाता है, जो अपने अतीत के चलते परवरिश से जुड़ीं अपनी-अपनी चुनौतियों से जूझ रहे हैं। दर्शकों ने उनकी कहानी को बहुत पसंद किया है।

अब आने वाले सप्ताह से यह शो एक नए समय पर दिखाया जाएगा। जहां यह शो पहले सोमवार से शुक्रवार रात 10 बजे प्रसारित होता था, वहीं 8 अगस्त से यह शाम 6:30 बजे प्रसारित होगा, और रात 10:30 बजे इस शो का रिपीट टेलीकास्ट होगा।
समय में बदलाव के बारे में बात करते हुए शो में पल्लवी की भूमिका निभाने वालीं राजश्री ठाकुर ने कहा, हमें दर्शकों और हमारे प्रशंसकों से प्यारी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। यह हमारे शो के लिए उनका प्यार ही है, जो हमें और ज्यादा मेहनत करने के लिए प्रेरित कर रहा है। इस शो में उन्हें बढ़िया मिलता है, जिसका वे भरपूर आनंद उठा सकते हैं।

उन्होंने कहा, हम इस शो के टाइम स्लॉट में बदलाव करने जा रहे हैं और अब 'अपनापन' अपने मूल समय 10 बजे की जगह शाम 6:30 बजे प्रसारित होगा। मुझे उम्मीद है कि दर्शक हमारा साथ देते रहेंगे और हमें इसी तरह अपना प्यार देते रहेंगे, क्योंकि अब हम दो बार टीवी पर आ रहे हैं! आगे हम बहुत-सा ड्रामा लेकर आ रहे हैं, इसलिए आप इस शो से बने रहें।

भले ही निखिल और पल्लवी एक दूसरे के खिलाफ हों, जहां निखिल अपने बच्चों की कस्टडी के लिए जूझ रहा है, और पल्लवी आत्मनिर्भर बनकर अपने सभी बच्चों को अपने पास रखने की कोशिश कर रही है, लेकिन इसके बावजूद ऐसे पल भी आते हैं, जब दोनों एक-दूसरे के बचाव में सामने आते हैं।

पल्लवी हाल के एपिसोड में फूड मेला के दौरान पत्रकारों के कुछ अप्रिय सवालों से निखिल का बचाव करती हैं। पल्लवी निखिल को इस मुश्किल से बचाएगी, और निखिल की मां इसे टेलीविजन पर देखेगी और एक बार फिर उनके लिए कुछ उम्मीद महसूस करेगी। क्या निखिल की मां इस जोड़ी को मिलाने की प्रेरणा बनेंगी?



और भी पढ़ें :