अनुराग कश्यप ने बताया- आखिर क्यों उनकी फिल्में छोड़कर सुशांत सिंह राजपूत ने धर्मा और यशराज के साथ किया काम

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जुलाई 2020 (13:38 IST)
के निधन के बाद से बॉलीवुड में नेपोटिज्म की बहस छिड़ी हुई है। इसी बीच डायरेक्टर ने सुशांत सिंह राजपूत के साथ अपने रिश्ते को लेकर खुलकर बातचीत की है। उन्होंने सुशांत को लेकर कई सारे खुलासे भी किए हैं। उनके मुताबिक, सुशांत की मौत का किसी को जिम्मेदार ठहराना गलत है क्योंकि उन्होंने अपने निर्णय खुद लिए थे।
एक इंटरव्यू के दौरान अनुराग कश्यप ने बताया कि सुशांत ने दो बार उनकी फिल्में रिजेक्ट कर दी थी और यशराज और धर्मा प्रोडक्शन की फिल्में की थी। अनुराग के मुताबिक, सुशांत बड़े बैनर के साथ काम करना चाहते थे इसलिए अब उनको लेकर नेपोटिज्म की बात करना बेफिजूल की बाते हैं।

अनुराग कश्यप ने कहा, न्यूकमर्स बड़े प्रोडक्शन हाउस के साथ काम करना चाहते हैं। सुशांत भी ऐसा ही चाहते थे। उन्होंने मेरी फिल्म हंसी तो फंसी छोड़ दी थी क्योंकि उन्हें यशराज ने शुद्ध देसी रोमांस ऑफर कर दी थी। मुकेश छाबड़ा मेरे ऑफिस से काम किया करते थे। हमने हंसी तो फंसी परिणीति चोपड़ा और सुशांत सिंह राजपूत के साथ शुरू की थी।

परिणीति पहले से ही यशराज के अंडर में काम कर रही थीं। तो हम उनसे बात करने के लिए गए थे और उन्हें बताया कि काय पो चे और पीके एक्टर के साथ फिल्म बना रहे हैं। यशराज ने सुशांत को बुलाया और उन्हें शुद्ध देसी रोमांस वाली डील दे दी।
अनुराग ने आगे कहा कि सुशांत जो मेरे ऑफिस में बैठा करता था, मैं और मुकेश उससे बात किया करते थे। उसने यशराज के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन किया और हंसी तो फंसी छोड़ दी। जो एक आउटसाइडर की फिल्म थी क्योंकि उसे यशराज का टैग चाहिए था। ये हर एक्टर चाहता है और मैंने इसका बुरा भी नहीं माना। वो बहुत टैलेंटेड एक्टर था। ये सिर्फ आपके चुनाव पर निर्भर करता है। उसने फिल्म ड्राइव (Film Drive) को चुना मेरी फिल्म को मना करके क्योंकि वो धर्मा प्रोडक्शन के साथ काम करना चाहता था। अब लोग उनकी मौत का इस्तेमाल दूसरे को नीचा दिखाने के लिए कर रहे हैं।
बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में फांसी लगा ली थी। बताया जा रहा है कि सुशांत डिप्रेशन का शिकार थे। मुंबई पुलिस सुशांत के सुसाइड मामले की जांच में लगी है।




और भी पढ़ें :