बॉलीवुड 2018 : इन फिल्मों को लेकर खूब हुआ विवाद

फिल्मों और विवादों का चोली-दामन जैसा नाता रहा है और कई फिल्में ऐसी रही हैं जिन्होंने विवादों के कारण सुर्खियां बटोरी। वर्ष 2018 में प्रदर्शित कई फिल्में विवादों में आने के बावजूद हिट साबित हुईं।
बॉलीवुड में हर वर्ष किसी सामाजिक मुद्दे, इतिहास और धार्मिक स्थलों पर आधारित फिल्में बनती हैं, लेकिन इनमें कुछ फिल्मों के रिलीज से पहले ही हंगामा मच जाता है। फिल्म के रिलीज होने पर देशभर में प्रदर्शन होने लगते हैं।

वर्ष 2018 में प्रदर्शित विवादित फिल्मों पर नजर डालें तो इनमें पद्मावत, पैडमैन, वीरे दी वेडिंग, बधाई हो, मनमर्जियां, केदारनाथ, लवरात्रि, सत्यमेव जयते, परमाणु द स्टोरी ऑफ पोखरण, मोहल्ला अस्सी और जीरो समेत कई अन्य फिल्में शामिल हैं। इन फिल्‍मों में कुछ ने बॉक्‍स ऑफिस पर अच्‍छी कमाई की जबकि कुछ फिल्मों के विवादों में फंसने के कारण कमाई पर भी असर पड़ा।
वर्ष 2018 की सबसे विवादित फिल्मों में शुमार ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को रिलीज हुई थी। संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी में दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर लीड रोल में थे। पद्मावत में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावती के किरदार में मुख्य भूमिका निभाई जबकि रणवीर सिंह ने अलाउद्दीन खिलजी और शाहिद कपूर ने राजा रतन सिंह का रोल निभाया।

यह फिल्म खिलजी वंश के दूसरे शासक अलाउद्दीन खिलजी और मेवाड़ की रानी पद्मावती के प्रति उसके जुनून की गाथा का बखान करती है। रानी पद्मावती अपनी सुन्दरता, बुद्धि और साहस के लिए प्रसिद्ध थीं।

फिल्म के रिलीज होने से पहले ही उसे काफी विरोध का सामना करना पड़ा। राजस्थान की करणी सेना का कहना था कि रानी पद्मावती ने पुरुष सेनापतियों के सामने नृत्य नहीं किया था जबकि फिल्म में ऐसा दिखाया गया है। इस बात को लेकर करणी सेना ने देश के कई राज्यों में फिल्म के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किए। कुछ लोगों ने संजय लीला भंसाली पर हमला कर दिया।

की वजह से फिल्म की रिलीज डेट भी टालनी पड़ी और फिल्म का नाम पद्मावती से बदलकर ‘पद्मावत’ करना पड़ा। हालांकि इसके बाजवूद फिल्म ने अच्छी कमाई की। फिल्म को दर्शकों से काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली। ‘पद्मावत’ ने 300 करोड़ रुपये से अधिक का कलेक्शन किया।
9 फरवरी को आर. बाल्की के निर्देशन में बनी ‘पैडमैन’ प्रदर्शित हुई। फिल्म को विवादों का सामना करना पड़ा। फिल्म में अक्षय कुमार, सोनम कपूर और राधिका आप्टे की मुख्य भूमिका है। ट्विंकल खन्ना निर्मित यह फिल्म अरुणाचलम मुरुगनथम की वास्तविक जीवन की
कहानी से प्रेरित है, जिन्होंने कम लागत वाले सैनिटरी पैड बनाने की मशीन का आविष्कार किया था।

मुरुगनानथम ने एक ऐसी मशीन का निर्माण किया था जो सैनिटरी नैपकिन्स सस्ते दाम में उत्पादित करती थी। उनको इस आविष्कार के लिए पद्मश्री से भी नवाजा गया था।

एक उभरते हुए लेखक ने अक्षय पर स्क्रिप्ट चोरी का आरोप लगाया था। लेखक रिपु दमन जयसवाल ने फिल्म के कुछ सीन्स पर उसकी लिखी कहानी से चुराए जाने का आरोप लगाया था। रिपु ने आरोप लगाया था कि उन्होंने अपनी लिखी स्क्रिप्ट कुछ साल पहले धर्मा प्रोडक्शन्स को भेजी थी और फिल्म के सीन्स उसी से लिए गए हैं।

रिपु दमन ने अक्षय कुमार के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी, जिसके बाद ‘पैडमैन’ पर भी विवाद का ठप्पा लग गया। हालांकि इन सबके बावजूद ‘पैडमैन’ ने देशभर में अच्छी कमाई की थी। फिल्म ने करीब 80 करोड़ का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया।

एकता कपूर और रिया कपूर निर्मित ‘वीरे दी वेडिंग’ भी विवादों के घेरे में आ गई। फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ की कहानी चार लड़कियों की दोस्ती पर आधारित है। करीना कपूर, सोनम कपूर और स्वरा भास्कर की फिल्म वीरे दी वेडिंग एक सीन को लेकर विवादों में पड़ गई।

चार हसीनाओं की जिंदगी पर बनी इस फिल्म में कहानी करीना कपूर की शादी के आसपास घूमती है। चारों लड़कियां बोल्ड और बिंदास हैं।
विवादों के बावजूद फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ को बॉक्स ऑफिस पर अच्छा रिस्पांस मिला था। स्वरा ने ट्रोलर्स को मुहंतोड़ जवाब भी दिया। एक इंटरव्यू में स्वरा ने कहा था कि यह सीन करके मैंने टेक्निकली कोई गलती नहीं की है। लेकिन शर्म तो आती है ना। लड़के कुछ भी और कहीं भी करें। हम अपने बेडरूम में भी ऐसा करें तो शर्मिंदा होना पड़ता है।

जॉन अब्राहम की फिल्म 'परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण' को भी विवादों का सामना करना पड़ा। निर्माता प्रेरणा अरोड़ा की कंपनी क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट ने जॉन और उनकी कंपनी जेए एंटरटेनमेंट के खिलाफ धोखाधड़ी, बेईमानी, विश्वासघात जैसे कई मामलों में मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत दर्ज करवाई थी।

‘परमाणु’ को निर्माता प्रेरणा अरोड़ा और अभिनेता जॉन अब्राहम की कंपनी साझेदरी में बना रही थी। इनका विवाद तब सामने आया, जब जॉन की कंपनी जेए एंटरटेनमेंट ने फिल्म को लेकर क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट के साथ हुए करार को तोड़ दिया और उनके सारे अधिकार खत्म कर दिए। इनके बीच पैसों को लेकर विवाद काफी समय से चल रहा था।

जॉन का कहना था कि प्रेरणा की ओर से उन्हें समय पर पैसे नहीं मिले। जबकि क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट का कहना था कि कि जॉन झूठ बोल रहे हैं। उन्हें पहले ही फिल्म के लिए 30 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। उल्टे, उन्होंने गानों को लेकर उन्होंने अपने वादे पूरे नहीं किए हैं। इसीलिए इस तरह करार रद्द किया जाना अवैध है। इन सबके बीच फिल्म रिलीज हुई और अच्छी कमाई करने में कामयाब भी रही।

जॉन अब्राहम की एक और फिल्म ‘सत्यमेव जयते’ भी प्रदर्शन के पूर्व विवादों में आ गई थी। ‘सत्यमेव जयते’ के ट्रेलर के एक सीन में मुहर्रम का सीन दिखाया गया है जो विवादों के बीच घिर गया। शिकायतकर्ताओं ने जॉन अब्राहम, निर्देशक मिलाप जावेरी और तीन अन्य निर्माताओं के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई थी।

फिल्म के ट्रेलर में मुहर्रम के जुलूस में मातम के दौरान हत्या का सीन दिखाया गया। इस जुलूस में जॉन एक आदमी की हत्या करते नजर आते हैं। शिकायतकर्ता के वकील ने तर्क दिया था कि यह फिल्म भ्रष्टाचार पर आधारित है। इसमें मुहर्रम के जुलूस और मातम के दौरान एक्टर द्वारा हत्या के सीन की जरूरत ही नहीं है। इस फिल्म की सफलता ने सभी को चौंका दिया।

सन्नी देओल की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘मोहल्ला अस्सी’ को भी काफी विवादों का सामना करना पड़ा। ‘मोहल्ला अस्सी’ काशी नाथ सिंह की उपन्यास काशी का अस्सी पर आधारित थी। विवाद की वजह से ये फिल्म काफी लंबे समय तक अटकी रही। फिल्म पर धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने का आरोप लगाया गया, यहां तक कि फिल्म की रिलीज रोकने के लिए दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में याचिका भी लगायी गई।

काफी लंबे समय तक फिल्म की रिलीज अटकी रही, पिछले सात साल से इस फिल्म की रिलीज पर रोक लगी थी, लेकिन लंबी कानूनी लड़ाई के बाद फिल्म 16 नवंबर को रिलीज हुई। फिल्म का ट्रेलर जैसे ही रिलीज हुआ था, इस पर विवाद शुरू हो गया, फिल्‍म की शूटिंग 2011 में शुरू हुई थी, लेकिन फिल्‍म के कुछ सीन इंटरनेट पर लीक हो गए और उसके बाद कई हिंदू संगठनों ने इस फिल्‍म की रिलीज का विरोध किया था। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अपेक्षित सफलता हासिल नहीं कर सकी।
आयुष्मान खुराना और सान्या मल्होत्रा अभिनीत फिल्म ‘बधाई हो’ 18 अक्टूबर को रिलीज हुई थी। ‘बधाई हो’ को दर्शकों ने काफी पसंद किया था। फिल्म में एक सोशल मैसेज देने की बात कही गई है। ‘बधाई हो’ पर भी विवाद हुआ। एक पत्रकार और लेखक ने ‘बधाई हो’ पर उनकी कहानी चुराने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि उनकी प्रकाशित‍ विवाद कहानी ‘घर बुनते हुए’ की कहानी चुराकर फिल्म बनाई गई है।

छत्तीसगढ़ के लेखक और पत्रकार पारितोष चक्रवर्ती ने ‘बधाई हो’ के निर्माता, निर्देशक और लेखक पर उनकी कहानी को चुराकर फिल्म बनाने का आरोप लगाया। पारितोष चक्रवर्ती ने तीनों के खिलाफ रायपुर में प्राथमिकी दर्ज कराई। शिकायत में पारितोष चक्रवर्ती ने आरोप लगाया कि 19 साल पहले प्रकाशित उनके कहानी संग्रह ‘घर बुनते हुए’ में शामिल ‘जड़’ नामक कहानी को चुराकर फिल्म ‘बधाई हो’ बनाई गई है।

उनका आरोप था कि 1998 में आनंद बाजार पत्रिका समूह की पत्रिका सुनंदा और हिन्दी साप्ताहिक पत्रिका कादम्बिनी में ‘जड़' कहानी का बांग्ला अनुवाद छपा था। इस कहानी को बिना इजाजत के फिल्म में हूबहू कॉपी किया गया है। ‘बधाई हो’ बॉक्स आफिस पर सुपरहिट साबित हुई।

नीरज पांडेय की फिल्म ‘अय्यारी’ रिलीज से ठीक एक हफ्ते पहले मुसीबत में फंस गई थी। इस फिल्म के रिलीज से पहले रक्षा मंत्रालय के कुछ अधिकारियों ने इस फिल्म को देखा भी। फिल्म देखने के बाद अधिकारियों ने कुछ सींस हटाने की मांग की। सेंसर बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने भी फिल्म को पास करने में काफी देरी की थी। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर नकार दी गई।
सलमान खान के प्रोडक्शन तले बनी फिल्म ‘लवयात्री’ को भी विवादों का सामना करना पड़ा। सलमान ने ‘लवयात्री’ फिल्म से अपने जीजा आयुष शर्मा को लांच किया है। इस फिल्म में आयुष के अपोजिट वरीना हुसैन थीं। ‘लवयात्री’ फिल्म रिलीज होने से पहले ही अपने नाम को लेकर विवाद में फंस गई थी। पहले ‘लवयात्री’ फिल्म का नाम ‘लवरात्रि’ था जिसे लेकर मुजफ्फरपुर कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी।
याचिका में कहा गया था कि फिल्म के नाम से धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं। इस याचिका के बाद फिल्म का नाम ‘लवरात्रि’ से बदलकर ‘लवयात्री’ कर दिया गया था। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं रही।

तापसी पन्नू, अभिषेक बच्चन और विक्की कौशल की फिल्म ‘मनमर्जियां’ को भी विवादों का सामना करना पड़ा। ‘मनमर्जियां’ फिल्म में आपत्तिजनक सीन को लेकर उत्तराखंड सिख फेडरेशन ने आक्रोश जताया था। यहां तक कि सिनेमाहॉल में फिल्म के पोस्टर्स फाड़े गए थे और जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया था।
फिल्म ‘मनमर्जियां’ के निर्देशक अनुराग कश्यप ने उनकी फिल्म में उन सींस के लिए माफी मांगी जिन पर सिख समुदाय ने आपत्ति जताई। सिख समुदाय का कहना था, कि फिल्म में दिखाए गए कुछ सींस से उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है।

अनुराग कश्यप ने सोशल मीडिया पर सफाई देते हुए लिखा था कि अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू और विकी कौशल की यह फिल्म तीन लोगों की कहानी है न कि सिख धर्म की कहनी है। हालांकि उन्होंने माफी मांगते हुए कहा कि उनका इरादा समुदाय को ठेस पहुंचाने का नहीं था। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर असफल रही।

‘केदारनाथ’ को भी काफी विवादों का सामना करना पड़ा। फिल्म के विषय, नाम और प्रस्तुतिकरण पर कई लोगों को आपत्ति थी। आखिरकार फिल्म रिलीज हुई।

शाहरुख खान की ज़ीरो फिल्म को लेकर भी सिख समुदाय की भावनाएं आहत हुईं। कृपाण के साथ शाहरुख एक पोस्टर पर नजर आए। बाद में यह विवाद सुलझा लिया गया।(वार्ता)

 

और भी पढ़ें :