चमत्कारी है 7 का अंक, पढ़ें आश्चर्यजनक जानकारियां


ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक अंक का महत्व है। जैसे 1 अंक सूर्य का, 2 अंक चंद्र का, 3 अंक गुरु का, चार अंक राहु का, 5 अंक बुध का, 6 का शुक्र, का केतु, 8 का शनि और 9 का स्वामी ग्रह मंगल है। मूलांक, भाग्यांक और जन्मांक से अंक ज्योतिषाचार्य लोगों का भविष्य बताते हैं। लेकिन हम यहां से हटकर कुछ और बताना चाहते हैं।

1. धर्म में 7 का स्थान :-
•जुडाइज्म में 7 को 'टौराह' का संकेत मानते हैं, जो आध्यात्मिकता और सृजन का एकीकरण है।
•प्रत्येक 7 साल में 7 बार मुबारक दिन (योवेल) आता है।
•डेविड जीस का सातवां बेटा है।
•ब्रेस्लोव परंपरा में 'द 7 कैंडेल्स' की संकल्पना है, जिसमें चेहरे के सात अंग- 2 आंख, 2 नासिकाएं, 2 कान और 1 मुंह को रखा गया है।
•हिंदू धर्म में 7 ऋषियों की परिकल्पना है।
•इस्लाम धर्म में 7 जमीन और 7 आसमान की परिकल्पना है।
•सूर-ए-फातिहा की 7 आयतें हैं।
•कुल 7 स्वर हैं।

2. में 7 का अंक...
•सप्तऋषि : वशिष्ठ, कश्यप, अत्रि, जमदग्नि, गौतम, विश्वामित्र और भारद्वाज।
•सात छंद : गायत्री, वृहत्ती, उष्ठिक, जगती, त्रिष्टुप, अनुष्टुप और पंक्ति।
•सात योग : ज्ञान, कर्म, भक्ति, ध्यान, राज, हठ, सहज।
•सात भूत : भूत, प्रेत, पिशाच, कूष्मांडा, ब्रह्मराक्षस, वेताल और क्षेत्रपाल।
•सात वायु : प्रवह, आवह, उद्वह, संवह, विवह, परिवह, परावह।
•सात द्वीप : जम्बूद्वीप, पलक्ष द्वीप, कुश द्वीप, शालमाली द्वीप, क्रौंच द्वीप, शंकर द्वीप, पुष्कर द्वीप।
•सात पाताल : अतल, वितल, सुतल, तलातल, महातल, पाताल तथा रसातल।


3 . गणित पर 7 का राज :-
•7 है चौथा प्राइम नंबर।
•7 माना जाता है दूसरा सबसे भाग्यशाली प्राइम नंबर।
•7 है तीसरा ल्यूका प्राइम नंबर।
•7 कैरॉल नंबर होने के साथ-साथ काइनिया नंबर भी है।

4 . विज्ञान में 7 का महत्व :-
•7 है नाइट्रोजन का एटॉमिक नंबर।
•पीरियॉडिक टेबल के 7 ग्रुप में मिलती है हैलोजन।

5. खगोलशास्त्र पर भी 7 का वर्चस्व :-
•सोलर सिस्टम के 7 सदस्य- सूर्य, चंद्र, मंगल, शुक्र, बुद्ध, वृहस्पति और शनि ग्रह हैं।
•उरसा मेजर समूह में भी 7 तारे हैं।
•एटलस और प्लेडियास की भी 7 पुत्रियाँ थीं।

6. तकनीकी में 7 का महत्व :-
•रूस से कजाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय डायरेक्ट फोन कॉल सेवा का कोड 7 है।
•अमेरिकन और कैनेडियन फोन नंबरों की संख्या 7 है।
•गुणवत्ता के 7 उपकरण माने जाते हैं।
•ओएसआई मॉडलों के भी 7 स्तर होते हैं।
•किल 7 लॉजिक गेट होते हैं।

7. क्लासिक में 7 का महत्व :-
•रोम की 7 पहाड़ियां हैं।
•प्रगतिशील कला की 7 विधाएं हैं।
•सात आश्चर्य हैं।
•रोमन इतिहास के 7 बादशाह हैं।

8. और भी कितना कुछ है इस 7 के संसार में...

•सात लोक : भूर्लोक, भूवर्लोक, स्वर्लोक, महर्लोक, जनलोक, तपोलोक, सत्यलोक। सत्यलोक को ही ब्रह्मलोक कहते हैं।
•सात समुद्र : क्षीरसागर, दुधीसागर, घृत सागर, पयान, मधु, मदिरा, लहू।
•सात पर्वत : सुमेरु, कैलाश, मलय, हिमालय, उदयाचल, अस्ताचल, सपेल? माना जाता है कि गंधमादन भी है।
•सप्त पुरी : अयोध्या, मथुरा, माया (हरिद्वार), काशी, कांची, अवंतिका (उज्जयिनी) और द्वारका।

 

और भी पढ़ें :