पुरुषोत्तम मास : अधिक मास में सोना खरीदें या नहीं?

अधिक मास की शुरुआत ही 18 सितंबर को शुक्रवार, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र और शुक्ल नाम के शुभ योग में होगी। ये दिन काफी शुभ रहेगा। अधिक मास के दौरान सर्वार्थसिद्धि योग 9 दिन, द्विपुष्कर योग 2 दिन, अमृतसिद्धि योग 1 दिन और 1 दिन तक आ रहा है।
सर्वार्थसिद्धि योग- ये योग इस मास में 9 बार आएगा। सितंबर की तारीख 21 और 26 एवं अक्टूबर की तारीख 1, 2, 4, 6, 7, 9, और 11 अक्टूबर में यह योग रहेगा। ये योग सारी मनोकामनाएं पूर्ण करने वाला और हर काम में सफलता देने वाला होता है। अमृत सिद्धि योग- यह योग 2 अक्टूबर 2020 को अमृत सिद्धि योग रहेगा। अमृतसिद्धि योग में किए गए कामों का शुभ फल दीर्घकालीन होता है। द्विपुष्कर योग- तारीख 19 एवं 27 सितंबर को द्विपुष्कर योग रहेगा।​​​​​​​ इस योग में किए गए किसी भी काम का दोगुना फल मिलता है, ऐसी मान्यता है।

ALSO READ:
अधिक मास : मलमास के बनने की पौराणिक कथा
अधिक मास में खरीदने का समय : अधिक मास में मृदु मैत्र मुहूर्त 19, 22 सितंबर, 2, 3, 8 अक्टूबर को रहेगा तो इस दिन नए रिश्ते तय किए जा सकते हैं, नए कपड़े, स्वर्ण आभूषण रत्न आदि खरीदे जा सकते हैं। इसके अलावा 10 और 11 अक्टूबर को रवि पुष्य एवं सोम पुष्य नक्षत्र रहेगा। यह ऐसा दिन हैं जबकि कोई भी आवश्यक शुभ कार्य किया जा सकता है। इस दिन सोना खरीदने की सलाह दी जाती है।
अधिक मास में विवाह तय करना, सगाई करना, कोई भूमि, मकान, भवन खरीदने के लिए अनुबंध किया जा सकता है। खरीददारी के लिए लिए भी यह शुभ योग शुभ मुहूर्त देख कर खरीद सकते हैं।



और भी पढ़ें :