गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. ज्योतिष 2022
  4. Shani ki sade sati 2022 in hindi
Written By
Last Updated : गुरुवार, 17 फ़रवरी 2022 (16:54 IST)

वर्ष 2022 में 3 पर Shani ki Sade Sati और 2 पर Dhaiya, बचने के लिए करें ये 8 उपाय

वर्ष 2022 में 3 पर Shani ki Sade Sati और 2 पर Dhaiya, बचने के लिए करें ये 8 उपाय - Shani ki sade sati 2022 in hindi
वर्ष 2022 में शनि ग्रह से कुछ राशियों को मुक्ति मिलेगी तो कुछ राशि वाले इसकी चपेट में आएंगे। अगले वर्ष शनि जब करेगा राशि परिवर्तन ( shani transit 2022 in hindi ) तब 3 राशि वालों पर साढ़ेसाती और और 2 राशियों को झेलना होगी शनि की ढैया की मार। आओ जानते हैं इससे बचने के उपाय।
 
साढ़े साती और ढैया : अगले वर्ष धनु से साढ़ेसाती हटेगी और तुला एवं मिथुन वालों को शनि की ढैया से मुक्ति मिलेगी। अगले वर्ष अर्थात 29 अप्रैल 2022 को शनि मकर से निकलकर जब कुंभ राशि में भ्रमण करेंगे तब मीन, कुंभ और मकर राशि पर शनि की साढ़ेसाती तथा कर्क और वृश्चिक पर राशि पर शनि की ढैय्या लगेगी। यानि वर्ष 2022 में मीन, कुंभ और मकर को साढ़े साती रहेगी जबकि कर्क और वृश्चिक राशि पर शनि की ढैय्या लगेगी।

 
वर्तमान में शनि ग्रह के मकर राशि में रहने के कारण वर्ष 2021 में धनु, मकर और कुंभ इन तीन राशियों पर साल 2021 में शनि की साढ़ेसाती (Shani Sade Sati) चल रही है जबकि मिथुन और तुला पर ढैय्या (Dhaiya) चल रही है।
 
साढ़े साती के 3 चरण ( Sade Sati ke teen charan ) : कहते हैं कि शनि की साढ़ेसाती के पहले चरण में शनि जातक की आर्थिक स्थिति पर, दूसरे चरण में पारिवारिक जीवन और तीसरे चरण में सेहत पर सबसे ज्‍यादा असर डालता है। ढाई-ढाई साल के इन 3 चरणों में से दूसरा चरण सबसे भारी पड़ता है।
Shani Dev Story
साढ़े साती से बचने के उपाय ( Shani ki sade sati se bachne ke upay ) : 
 
1. कम से कम 11 शनिवार को शनि मंदिर में छाया दान करें।
 
2. अंधे लोगों को समय समय पर खाना खिलाते रहें।
 
3. साफाईकर्मी, मजदूर और विधवाओं को कुछ न कुछ दान देते रहें।
 
4. हनुमान जी की शरण में रहें और नित्य हनुमान चालीसा पढ़ते रहें।
 
5. शराब न पीएं, ब्याज का धंधा न करें और न ही झूठ बोलें। पराई महिला पर बुरी नजर न रखें। अपने कर्मों को शुद्ध बनाकर रखें।
 
 
6. शनि मंदिर में शनि से जुड़ी वस्तुएं दान करते रहें। 
 
7. कुत्ते, कौवे या गाय को रोटी खिलाते रहें।
 
8. शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष में दिया जलाते रहें।