भाजपा घोषणा पत्र : युवाओं को स्मार्टफोन, गरीबों को चावल

भोपाल| WD|
FILE
भोपाल। मध्यप्रदेश में इस माह होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा द्वारा जारी घोषणा-पत्र में सरकारी कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले युवाओं को स्मार्ट फोन, प्रतिभाशाली युवाओं को लैपटॉप, गरीबों को गेहूं के समान ही एक रुपए किलो चावल देने, गरीबों, किसानों एवं भूमिहीनों के लिए 15 लाख आवास बनाने एवं किसानों के लिए नई फसल बीमा योजना बनाने का वायदा किया गया है।


भाजपा की प्रदेश घोषणा पत्र समिति के संयोजक विक्रम वर्मा ने आज यहां मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, म.प्र भाजपा की चुनाव प्रबंध समिति के संयोजक अनिल माधव दवे सहित अन्य भाजपा नेताओं की उपस्थिति में घोषणा-पत्र जारी करते हुए कहा कि यह घोषणा पत्र नहीं, बल्कि एक जन संकल्प है। यह भाजपा की विकास के प्रति प्रतिबद्धता, समाज के कमजोर वर्गों के कल्याण के प्रति समर्पण और मध्यप्रदेश की जनता की सेवा का निश्चय है।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस अवसर पर घोषणा पत्र में किए गए वायदों का जिक्र करते हुए कहा कि इसमें युवाओं की ओर विशेष ध्यान दिया गया गया है। भाजपा ने सरकारी कॉलेजों में प्रवेश लेने वालों को स्मार्ट फोन देने के साथ ही प्रतिभाशाली युवाओं को लैपटाप, 10 से 15 किलोमीटर तक की दूरी से आने वाली छात्राओं को बसों में शैक्षणिक पास, तथा दिन प्रति दिन मंहगी होती जा रही उच्च शिक्षा हेतु शुल्क ढांचे के पुनर्निर्धारण का वायदा शामिल है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि मध्यप्रदेश में जहां प्रशासनिक सुधार आयोग का गठन किया जाएगा, वहीं अंत्योदय मेलों से आगे जाकर चिह्नित शासकीय सेवाओं की होम डिलीवरी की जाएगी। साथ ही जिला पुनर्गठन आयोग का गठन किया जाएगा और कक्षा दसवीं के परीक्षा परिणाम के साथ ही जाति प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि कृषि पर समग्रता से विचार योजना निर्माण, क्रियान्वयन व विभिन्न प्रबंधन करने के लिए पृथक कृषि बजट के साथ ही किसानों के कर्जों को आवश्यक परिस्थितियों में माफ करने के लिए मप्र रिण राहत आयोग बनाया जाएगा, जो अलग-अलग जिलों के लिए अवार्ड घोषित करेगा और परिस्थिति अनुसार रिण राहत योजनाएं अनुशंसित करेगा।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही जहां खेतीहर मजदूरों के लिए भविष्य निधि योजना आरंभ की जाएगी, वहीं मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना भी शुरू की जायेगी। साथ ही पशुओं के लिए चलित उपचार सेवा 109 शुरू की जाएगी।
चौहान ने कहा कि जो गांव-सड़कों से नहीं जुड़ पाए हैं, उन सभी को अगले पांच वर्षों में सड़क सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही ग्रामीण हाट बाजारों को स्थानीय करों से मुक्ति दी जाएगी।

नारी शक्ति का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षित महिलाओं को उद्योग एवं व्यापार हेतु रियायती दर पर ऋण, अचल सम्पत्ति एवं भूमि की रजिस्ट्री में स्टांप शुल्क में महिलाओं को विशेष छूट, महिलाओं के नाम पर वाहन पंजीयन में विशेष रियायत तथा महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस शुल्क से मुक्ति दी जाएगी।
उद्योगों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि म.प्र में खुदरा में बहु ब्रांड को एफडीआई की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने कहा कि भोपाल-इंदौर, भोपाल-बीना, जबलपुर-सिंगारोली एवं मुरैना निवेश गलियारा परियोजना का क्रियान्वयन शुरु किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2003-04 में विद्युत का उत्पादन 4673 मेगावाट था जो वर्ष 2013 में बढ़कर 10517 मेगावाट हो गया है तथा वर्ष 2020 तक इसे बढ़ाकर 20 हजार मेगावाट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार वर्ष 2003-04 के सात लाख हेक्टेयर के मुकाबले सिंचाई क्षमता 25 लाख हेक्टेयर कर दी गई है और अब इसे बढ़ाकर 75 लाख हेक्टेयर तक किया जाएगा।
चौहान ने कहा कि अगले पांच सालों में प्रदेश में जहां पांच स्थानों पर सरकारी मेडिकल कॉलेजों खोले जायेंगे वहीं मेडिकल सीटों को 2018 में वर्तमान 1620 से बढ़ाकर पांच हजार तक करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

पत्रकारों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी राज्यस्तरीय अधिमान्य पत्रकारों को लैपटॉप, पत्रकारों की कठिनाइयों के अध्ययन एवं निराकरण हेतु समिति, पत्रकारों को आवासीय भूखंड एवं रियायती दर पर आवासीय ऋण हेतु नीति एवं कार्यक्रम के साथ ही पत्रकारों के लिए सामूहिक बीमा योजना लागू की जाएगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :