Tokyo Olympics: तीरंदाजी मिश्रित युगल क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हुई दीपिका कुमारी और प्रवीण जाधव की जोड़ी

Last Updated: शनिवार, 24 जुलाई 2021 (16:22 IST)
टोक्यो: ऐन मौके पर बनाई गई दीपिका कुमारी और की जोड़ी तीरंदाजी स्पर्धा के मिश्रित युगल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में शीर्ष वरीयता प्राप्त कोरिया से हारकर पदक की दौड़ से बाहर हो गई।

पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साथ खेल रहे जाधव और दीपिका को कोरिया ने 6-2 से हराया। दीपिका आठ में से एक भी तीर पर परफेक्ट 10 स्कोर नहीं कर सकी। वहीं, जाधव ने तीन परफेक्ट 10 के बाद चौथे सेट में छह स्कोर कर दिया।


पुरूषों के रैंकिंग दौर में शुक्रवार को खराब स्कोर के बाद भारत ने दीपिका के साथ उनके पति अतनु दास की बजाय जाधव को मिश्रित युगल में उतारने का फैसला किया। एक महीना पहले ही दास और दीपिका ने पेरिस विश्व कप में मिश्रित युगल में स्वर्ण जीता था।

पहले सेट में भारतीय जोड़ी एक भी बार 10 स्कोर नहीं कर पाई और कोरिया की अन सान तथा किम जे दियोक की जोड़ी ने उन्हें 35-32 से हराया। दूसरे सेट में जाधव ने दो बार 10 स्कोर करके भारत को मुकाबले में लौटाने की कोशिश की लेकिन दीपिका का स्कोर 8 और 9 रहा। टीम दूसरा सेट 37-38 से हार गई।



तीसरे सेट में भारतीयों ने तीन नौ और एक आठ स्कोर किया। अन सान ने आखिरी तीर पर आठ स्कोर करके भारत को एकमात्र सेट जीतने दिया। भारत को चौथे सेट में एक और जीत की जरूरत थी लेकिन जाधव छह ही स्कोर कर पाये।


इससे पहले चीनी ताइपै को हराकर भारतीय जोड़ी क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी।


मिश्रित युगल तीरंदाजी स्पर्धा पहली बार ओलंपिक में खेली जा रही है।


पिछला मुकाबला जीतने के बाद दीपिका ने कहा था, ‘‘मैं अतनु के साथ खेलना चाहती थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। हालात चाहे जो भी हो, मुझे अच्छा प्रदर्शन करना है। मैं दुखी हूं कि मिश्रित युगल में वह मेरे साथ नहीं है।’’

पहले सेट में भारतीय जोड़ी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और दो बार 8 के स्कोर से उन्होंने पहला सेट 35-36 से गंवा दिया। दूसरे सेट में वापसी करते हुए उन्होंने स्कोर 38-38 किया। तीसरे सेट में जाधव फॉर्म में लौटे और 40 में से 40 स्कोर करके भारत ने बराबरी की। निर्णायक सेट में दो दो निशानों के बाद स्कोर 17-19 था। आखिरी दो निशानों पर चीनी ताइपै की जोड़ी ने 8 और 9 स्कोर किया जबकि दीपिका और जाधव दोनों ने परफेक्ट 10 स्कोर किया।

दक्षिण कोरिया को तीरंदाजी में पहला स्वर्ण

पारंपरिक तीरंदाजी महाशक्ति दक्षिण कोरिया ने शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में पहला स्वर्ण पदक जीत लिया। आन सान और किम जे देवक की जोड़ी ने तीरंदाजी के मिश्रित टीम फाइनल में नीदरलैंड के गैब्रिएला श्लोसेर और स्टीव विजलर को 5-3 से हराकर देश को पहला स्वर्ण दिलाया। नीदरलैंड को रजत, जबकि मेक्सिको ने कांस्य पदक जीता।1988 में ओलंपिक में आने के बाद से दक्षिण कोरिया ने तीरंदाजी टीम प्रतियोगिताओं में अब तक 17 पदक जीत हैं, जिसमें 14 स्वर्ण हैं।



और भी पढ़ें :