सिंहस्थ में चोरों का कोहराम, साधु-संत परेशान

उज्जैन| भीका शर्मा| Last Updated: रविवार, 24 अप्रैल 2016 (15:09 IST)
उज्जैन। दत्त अखाड़े के भूखी माता क्षेत्र में चोरों ने साधु-संतों की नाक में दम कर दिया है। वे बाबाओं के झोले लेकर फरार हो जाते हैं। संतों में इस बात को लेकर खासा आक्रोश है। उन्होंने आज (रविवार को) इन घटनाओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए चक्काजाम भी किया।
 
शुरू हुए अभी 2 दिन ही हुए हैं, लेकिन चोरी की घटनाएं बढ़ने लगी हैं। चोर बाबाओं की झोलियां लेकर फरार हो रहे हैं। इन झोलियों में पैसा, सोना, चांदी, माला, साधना का सामान, एटीएम कार्ड आदि रहते हैं।
 
संत गोविंद गिरि ने 'वेबदुनिया' को बताया कि ये लोग कई बार पांडाल चीरकर संतों का कीमती सामान लेकर फरार हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि हम प्रशासन के काम से बिलकुल नाखुश हैं। 
 
पंचदशनाम अखाड़े से जुड़े काशी के संत रघुवर गिरि ने बताया कि आज सुबह 6 बजे संतों ने भूखी माता रोड पर गुरुद्वारे के सामने चक्काजाम किया।
 
उन्होंने कहा कि एक संत की जायलो गाड़ी का शीशा तोड़कर कुछ लोग बैग लेकर फरार हो गए। उन्होंने कहा कि पायलट बाबा के एक शिष्य का झोला चोरी हो गया। इसमें 65 हजार रुपए थे।  बाबा नृसिंह का झोला भी चोरी चला गया। इसमें गौरीशंकर कंठा (माला), जिसकी कीमत 3.50 लाख थी, समेत ऐतिहासिक महत्व के चांदी के सिक्के भी थे।>  
श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा कच्छ के महंत नृसिंह गिरि का जो गौरीशंकर कंठा चोरी गया है उसमें 65 दाने थे और हर दाने की कीमत 8 हजार रुपए थी।
 
रघुवर गिरि ने आरोप लगाया कि कई बार साधु चोरों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर देते हैं, पर पुलिस साठगांठ कर उन्हें फिर छोड़ देती है। 
>



और भी पढ़ें :