1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. No fair in Kurukshetra in solar eclipse
Written By
पुनः संशोधित रविवार, 21 जून 2020 (22:16 IST)

Solar Eclipse 2020 : कुरूक्षेत्र में सूर्यग्रहण पर Coronavirus का असर

कुरुक्षेत्र। हरियाणा के कुरुक्षेत्र में सूर्यग्रहण के मौके पर रविवार को ब्रह्म सरोवर के तट पर सिर्फ सामान्य धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रशासन ने कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी की वजह से इस बार के सूर्यग्रहण के मौके पर कोई मेला आयोजित नहीं करने का निर्णय किया था।
 
शहर में रविवार शाम 4 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया था ताकि लोग जिले में स्थित पवित्र सरोवर के तट पर जमा नहीं हों और सूर्यग्रहण के मौके पर सरोवर में डुबकी नहीं लगाएं या अनुष्ठान नहीं करें। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, सूर्यग्रहण के दौरान कुरुक्षेत्र के पवित्र सरोवर में स्नान शुभ माना जाता है।
 
ब्रह्म सरोवर पर सुभद्रा और गंगा घाट पर सामान्य धार्मिक समारोह का आयोजन किया गया जिसमें 200 धार्मिक नेताओं ने हिस्सा लिया। आमतौर पर, सूर्यग्रहण के दौरान करीब 10 लाख श्रद्धालु सन्निहित सरोवर पर आते थे।
 
जिलाधिकारी धीरेंद्र खडगटा ने पहले कहा था कि प्रशासन ने फैसला लिया है कि इस बार मेले का आयोजन नहीं किया जाए। कुरुक्षेत्र स्थित ग्लोबल इंस्पीरेशन एंड इनलाइटनमेंट ऑर्गनाइजेशन के प्रमुख स्वामी ज्ञानानंद और कुछ अन्य साधू सुबह करीब 10 बजे ब्रह्म सरोवर के सुभद्रा घाट पहुंच गए और पवित्र स्नान किया।
 
कुछ वैज्ञानिक भी सूर्यग्रहण का अध्ययन करने के लिए अपने उपकरणों के साथ यहां पहुंचे थे। सूर्यग्रहण सुबह 10 बजकर 19 मिनट पर शुरू हुआ था और दोपहर दो बजकर दो मिनट तक चला। यह सूर्यग्रहण देश के कई हिस्सों में देखा गया।
 
वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से यहां धार्मिक नेताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि ब्रह्म सरोवर के तट पर किए जा रहे अनुष्ठान दुनिया में शांति और समृद्धि लाने में मदद करेंगे जो कोविड-19 महामारी से लड़ रही है।
 
अधिकारियों ने रविवार को बताया कि कुरुक्षेत्र जिले को सभी तरफ से सील कर दिया गया है और ब्रह्म सरोवर और आसपास के तालाबों पर अवरोधक लगाए गए थे। उन्होंने बताया कि लोगों से घरों में ही अनुष्ठान करने का आग्रह किया गया था।
ये भी पढ़ें
स्पेन ने पर्यटकों के लिए खोली सीमा, ट्रंप चाहते हैं COVID-19 जांच की संख्या हो कम