30 जून 2022, गुरुवार से गुप्त नवरात्रि शुरू, पुष्य नक्षत्र में बनेंगे खरीदी के शुभ योग, जानिए ग्रह संयोग

Last Updated: गुरुवार, 30 जून 2022 (11:07 IST)
हमें फॉलो करें
Aashadh 2022: आषाढ़ माह की गुप्त नवरात्रि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 30 जून 2022, गुरुवार को प्रारंभ होगी जो 8 जुलाई तक चलेगी। गुप्त नवरात्रि में दश महाविद्याओं की पूजा और साधना होती है।

तिथि : शुक्ल प्रतिपदा 10:49 AM तक उसके बाद द्वितीया।

के बाद पुष्य नक्षत्र : पुनर्वसु नक्षत्र 01:07am, जुलाई 01 तक रहेगा। इसके बाद पुष्य नक्षत्र रहेगा। पुष्य नक्षत्र में खरीदारी का रहता है।
शुभ योग :
1. सर्वार्थ सिद्धि योग: पूरे दिन। 30 जून 05:48 से 1 जुलाई 01:07 AM तक।

2. अमृत सिद्ध योग : Jul 01 01:07 AM - Jul 01 05:48 AM तक।


3. ध्रुव योग : सुबह 09 बजकर 52 मिनट तक रहेगा।

5. अन्य योग : इसके अलावा आडल और विडाल योग भी रहेगा।
Gupta Navaratri
अभिजीत मुहूर्त : सुबह 11:34 से 12:29 तक।
विजय मुहूर्त : दोपहर 02:19 से 03:13 तक।
गोधूलि मुहूर्त : शाम 06:39 से 07:03 तक।
सायाह्न संध्या मुहूर्त : शाम 06:52 से 07:54 तक।
अमृत काल मुहूर्त : रात्रि 10:25 से रात्रि 12:13 तक।
निशिथ मुहूर्त : रात्रि 11:41 से 12:22 तक।
घटस्थापना मुहूर्त- 30 जून सुबह 05:48 से सुबह 10:16 तक।

ग्रह संयोग : 30 जून को चंद्र और सूर्य मिथुन राशि में अमावस्या योग बना रहे हैं, शुक्र और बुध वृषभ राशि में मिलकर लक्ष्मी नारायण योग बना रहे हैं। मेष राशि में मंगल और राहु मिलकर अंगारक रोग और रूचक योग बना रहे हैं। बृहस्पति ग्रह अपनी स्वयं की राशि मीन में है। शनि कुंभ राशि में है। केतु तुला में है।



और भी पढ़ें :