गुप्त नवरात्रि हो रही है शुरू, क्यों की जाती है दस महाविद्याओं की पूजा?

पुनः संशोधित बुधवार, 29 जून 2022 (15:38 IST)
हमें फॉलो करें
Aashadh 2022: 30 जून 2022, गुरुवार को आषाढ़ माह की गुप्त नवरात्रि अंग्रेजी प्रारंभ होगी जो 8 जुलाई तक चलेगी। गुप्त नवरात्रि में दश महाविद्याओं की पूजा और साधना होती है।


क्यों की जाती है दस महाविद्याओं की पूजा Why are worshiped:
1. वैसे तो गुप्त नवरात्रि में भी उन्हीं 9 माताओं की पूजा और आराधना होती है लेकिन यदि कोई अघोर साधना करना चाहे तो दस महाविद्या में से किसी एक की साधना करता है जो गुप्त नावरात्रि में सफल होती है।

2. गुप्त नवरात्रि विशेषकर तांत्रिक क्रियाएं, शक्ति साधना, महाकाल आदि से जुड़े लोगों के लिए विशेष महत्त्व रखती है।

3. इस दौरान देवी भगवती के साधक बेहद कड़े नियम के साथ व्रत और साधना करते हैं।

4. इस दौरान लोग लंबी साधना कर दुर्लभ शक्तियों की प्राप्ति करने का प्रयास करते हैं।

5. भगवान विष्णु शयन काल की अवधि के बीच होते हैं तब देव शक्तियां कमजोर होने लगती हैं। उस समय पृथ्वी पर रुद्र, वरुण, यम आदि का प्रकोप बढ़ने लगता है इन विपत्तियों से बचाव के लिए गुप्त नवरात्र में मां दुर्गा की उपासना की जाती है।



और भी पढ़ें :