बड़ी खबर, SBI के 18 हजार एटीएम बेकार, नहीं उगल पा रहे हैं 2 हजार के नोट

इंदौर| पुनः संशोधित गुरुवार, 23 अगस्त 2018 (17:52 IST)
इंदौर। नोटबंदी के 21 माह बाद भी सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के 18,135 एटीएम को अभी भी नए नोटों के अनुरूप नहीं ढाला जा सका है, हालांकि इस अवधि में बैंक ने 22.50 करोड़ रुपए के खर्च से 41,386 एटीएम को नए नोटों के अनुरूप तैयार कर लिया है।
मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चन्द्रशेखर गौड़ ने गुरुवार को बताया कि स्टेट बैंक ने उनकी अर्जी के जवाब में यह जानकारी दी है।

गौड़ ने एसबीआई से पूछा था कि बैंक के कितने एटीएम अब तक 2,000, 500 और 200 रुपए के नए नोटों के अनुरूप ढाले जा चुके हैं? जवाब में एसबीआई ने बताया कि अब तक बैंक के 59,521 एटीएम में से 41,386 नकदी निकासी मशीनों को रीकैलिब्रेट कर लिया गया है और इस काम पर 22.50 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है।
एसबीआई के उत्तर से स्पष्ट है कि फिलहाल उसके 18,135 एटीएम ग्राहकों को देने लायक नहीं बन सके हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नवंबर 2016 को 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी। इसके बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने सिलसिलेवार तरीके से 2,000, 500 और 200 रुपए के नए नोट जारी किए थे। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :