उत्तराखंड का पुलिस दल काठमांडू रवाना

Author ललित भट्‌ट| पुनः संशोधित मंगलवार, 28 अप्रैल 2015 (17:45 IST)
देहरादून। उत्तराखंड पुलिस के डीआई जीजीएस मर्तोलिया सहित 6 सदस्यों का एक दल राहत कार्यों के ‍लिए काठमांडू के लिए रवाना हुआ है।
गौरतलब है कि केदारनाथ में आई भयानक आपदा के बाद मर्तोलिया के नेतृत्व में पुलिस दल में बेहतरीन कार्य किया था। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नेपाल में आई त्रासदी से निपटने के लिए मदद हेतु अधिकारियों को रणनीति बनाने का निर्देश दिया। डाम कोठी गेस्ट हाउस में अखाड़ों, संतों, शांतिकुंज, भारत माता मंदिर, इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, व्यापार मंडल इत्यादि के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करते हुए अपील की कि नेपालवासियों की हर प्रकार से मदद की जाए। राहत सामग्री अनाज, कपड़ा, दवाएं, नकद धनराशि से मदद की जाएगी।
 
जिलाधिकारी को निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद नोडल अधिकारी के माध्यम से समन्वय कर राहत सामग्री को एकत्र कर इसे नेपाल भूकंप पीड़ितों को भेजा जाए। नकद धनराशि चेक के माध्यम से ली जाएगी। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि नेपाल हमारा पड़ोसी देश है और इसके साथ हमारा आध्यात्मिक, धार्मिक व भाईचारे का रिश्ता है। इसलिए इस कठिन परिस्थिति में नेपाल की मदद करना हमारा नैतिक दायित्व है। मुख्य सचिव एन. रविशंकर ने कहा कि हमारा प्राथमिक लक्ष्य तात्कालिक राहत पहुंचाना है। इसके पश्चात पुनर्निर्माण कार्य में मदद दी जाएगी। सिडकुल एसोसिएशन के हरेन्द्र गर्ग, अरुण  सारस्वत ने कहा कि उद्योग जगत इसमें हरसंभव सहयोग करेगा।
 
व्यापार मंडल के कैलाश केशवानी ने कहा कि शीघ्र व्यापारियों की बैठक में मदद का प्रस्ताव लाया जाएगा। भारत माता मंदिर के आईडी त्रिवेदी ने संस्था की ओर से एक लाख रुपए का चैक दिया। शांतिकुंज व परमार्थ निकेतन के प्रतिनिधि ने जानकारी दी कि तात्कालिक राहत सामग्री भेज दी गई है, इसके अतिरिक्त शेष समन्वय कर भेजी जाएगी।
 
बैठक में स्वामी रवीन्‍द्र पुरी महाराज, हरिचेतनानन्द महाराज, रामानंदपुरी महाराज, मोहनदास महाराज, पूर्व पालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, मंडी परिषद अध्यक्ष संजय चोपड़ा, अमरीश कुमार, जिलाधिकारी एचसी सेमवाल, मेलाधिकारी एसए मुरुगेशन, सीडीओ रंजना, एडीएम जेएस नागन्याल, एसपी सिटी सुरजीतसिंह पंवार आदि उपस्थित थे। 
 



और भी पढ़ें :