0

मदर्स डे 2019 : धरती पर उपस्थित साक्षात चमत्कार है मां

रविवार,मई 12, 2019
Happy Mothers Day
0
1
एक महिला अपने आने वाले बच्चे के लिए बहुत सपने देखने लगी थी। लेकिन उसे नहीं पता था कि जो बच्चा आना वाला है, वो इस दुनिया के बारे में क्या सोचता है? क्या वो बच्चा इस दुनिया में आना चाहता था?
1
2
पूरी दुनिया मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे सेलीब्रेट करती है, ये तो सभी जानते हैं कि ये दिन खासतौर से सभी माताओं को समर्पित है। वैसे तो माताओं के प्रति प्यार और सम्मान हर पल ही मन में होता है लेकिन
2
3
असहाय न पाया कभी सिर उठाए तुम्हारा जीना देखा आशा में रख विश्वास
3
4
तुमने मुझे गोद में ले अमृत पिला दिया कहां फूल है, कहां कांटे बता समझा दिया अपनी विशालता,
4
4
5
मां तो मां है परवान चढ़ी की बली का नाम है मां प्रेम सुहाग के संस्कार में जीवित है मां
5
6
मातृ दिवस पर अगर मां को स्पर्श कर यह कसम खा सकते हैं तो अवश्य मनाएं यह दिन... आपको हक है मनाने का...
6
7
आज मदर्स डे यानी मातृ दिवस है। यह दिन 'मात्र' दिवस बन कर ना रह जाए, इसलिए शब्दों के गंधरहित फूल और भावनाओं के छलछलाते अर्घ्य को लेकर आपके समक्ष उपस्थित हूं। इस एक खत, पाती, चिट्ठी, लेटर को आप अपनी 'कृतज्ञ' से लेकर मेरी तरह 'कृतघ्न' संतानों का कटघरा ...
7
8
इस एक रिश्ते में निहित है अनंत गहराई लिए छलछलाता ममता का सागर। शीतल, मीठी और सुगंधित बयार का कोमल अहसास। इस रिश्‍ते की गुदगुदाती गोद में ऐसी अनुभूति छुपी है मानों नर्म-नाजुक हरी ठंडी दूब की भीनी बगिया में सोए हों।
8
8
9
मां से बढ़कर कुछ नहीं क्या तीरथ क्या धाम चरण छुए और हो गए तीरथ चारों धाम।
9
10
मां को समझ पाना बहुत मुश्किल है। मां की ममता की थाह पाना बहुत मुश्किल है मां एक वृक्ष के समान होती है,
10
11
मां शब्दकोश का ही नहीं अपितु जीवन के वाड्मय का भी सबसे प्यारा शब्द है। शिशु के मुख से सबसे पहले यही एकाक्षरी शब्द फूटता है। यद्यपि मां के अतिरिक्त माता, माई, अम्मा, जननी, मैया
11
12
मां, शुक्ल पक्ष की चांदनी तुम हमें देती रहीं स्वयं कृष्ण पक्ष की चांदनी सी ढलती रहीं
12
13
जीवनदात्री! लहू से अपने सींचकर जीव का पहला परिचय होती है मां। वाणी का पहला सुर होती है मां
13
14
एक शब्द भर नहीं है मां एक रिश्ता ही नहीं है मां है एक पूर्ण-संपूर्ण एहसास एक सागर समाहित कर लेता है सबको अपने आप में, अपने अस्तित्व में फिर भी कभी नहीं उफनता हजारों सुख-दुख की लहरें उमड़ती हैं उसमें पर हम तक आने वाली हर लहर शांत, शीतल, ...
14
15
तुमसा कोई नहीं है मां मेरे हर दुःख-दर्द की दवा है मेरी मां, मुसीबतों के समय मख़मली ढाल है मेरी मां,
15
16
जब कोई आपसे पूछे कि दुनिया का सबसे खूबसूरत रिश्ता कौन सा है? कुछ लोग थोड़ा सोचकर जवाब देंगे और कुछ लोग बिन सोचे तुरंत ही बोल पड़ेंगे, मेरा और मेरी मां का रिश्ता इस दुनिया में सभी रिश्तों से ऊपर है। आखिर हो भी क्यों न! बच्चे को अपनी कोख में रखकर पीड़ा ...
16
17
उसकी केशर सुगंध मेरे रोम-रोम से प्रस्फुटित होती है, मेरी सांस-सांस की हर महक उसकी आत्मा से उठती है वह देहरी पर सजी रंगोली सा इंद्रधनुषी प्यार है, मां जिसकी बिंदी में समाया मेरा संपूर्ण श्रृंगार है, मेरी संपूर्ण संसार है...
17
18
मां के आंचल की छाया संतानों का दूर करे दुःख मां के आंचल की छाया, आजीवन सेवारत होती, मां की ममतामयी काया
18
19
मां, देखा है हर सुबह तुम्हें तुलसी के चौरे पर मस्तक झुकाए हुए, मां तुम रोशन करती हो अंधेरों को चांद का दीपक जलाए हुए...
19