1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. We are dying, former Chief Minister Kamal Nath told Pandit Pradeep Mishra in Indore
Written By
पुनः संशोधित बुधवार, 30 नवंबर 2022 (18:20 IST)

हम तो 7 दिन से मर रहे हैं, पंडित मिश्रा के सामने आई कमलनाथ की पीड़ा, नरोत्तम मिश्रा ने किया तीखा तंज

भोपाल/इंदौर। भारत जोड़ो यात्रा को लेकर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ की पीड़ा उस समय सामने आई, जब उन्होंने कथाकार पंडित प्रदीप मिश्रा के समक्ष अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि हम तो 7 दिन से मर रहे हैं। भारत जोड़ो यात्रा सुबह 6 बजे से शुरू हो जाती है और राहुल गांधी 24 किलोमीटर से कम चलते नहीं हैं। 
 
दरअसल, कमलनाथ पंडित मिश्रा को छिंदवाड़ा में कथा करने के लिए न्योता देने के लिए गए थे। इसी दौरान बातचीत में उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा की बात कह दी। लगातार पैदल चलने से दुखी कमलनाथ के मुंह से दर्द बाहर आ गया और उन्होंने कहा कि हम तो 7 दिन से मर रहे हैं।
 
24 किलोमीटर से कम नहीं : उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने तय कर रखा है कि वे रोज 24 किलोमीटर से कम नहीं चलेंगे। कमलनाथ बोले कि गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा मध्य प्रदेश से गुजारने के लिए कम से कम 24 किलोमीटर प्रतिदिन यात्रा करने की बात कही थी और कहा था कि मैं तभी महाकाल, ओंकारेश्वर और टंट्या मामा की जन्मस्थली जाऊंगा।
 
इस पर कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने कहा कि 24 किलोमीटर तो बहुत होता है। इतना चलना और सभी लोगों से मिलना, तप-साधना इसी को कहते हैं। आपको बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा के मध्यप्रदेश में प्रवेश के बाद 76 साल के कमलनाथ भी राहुल के साथ काफी पैदल चले हैं।
 
नरोत्तम मिश्रा का तंज : कमलनाथ का वीडियो वायरल होने के बाद मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर तंज करते हुए कहा‍ कि धर्म और जनजातीय समाज के प्रति राहुल गांधी जी का पाखंड कमलनाथ जी के वायरल वीडियो में खुद उनकी जुबानी बयां हो रहा है। मैं राहुल बाबा से ये अपील भी करता हूं कि अपने इवेंट की सफलता के लिए शारीरिक रूप से असमर्थ अपने ही लोगों को जबरन 'बलि का बकरा' न बनाएं। आपका इवेंट किसी के लिए नुकसानदायक न हो जाए। 
 
मिश्रा ने अपने वीडियो में कहा कि किन शर्तों पर राहुल ने टंट्‍या मामा, बाबा महाकाल एवं अन्य जगह जाने के लिए बात कही है। इससे इनका धार्मिक और जनजाति के प्रति प्रेम पाखंड दिखाई दे रहा है।
 
ये भी पढ़ें
क्या कबाड़ में बदल जाएगी आपकी कार? नितिन गडकरी का बड़ा ऐलान