चुनाव में भाषा का स्तर गिरने के लिए पीएम मोदी जिम्मेदार, यशवंत सिन्हा का आरोप

विशेष प्रतिनिधि| Last Updated: शुक्रवार, 10 मई 2019 (20:13 IST)
भोपाल। पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्तमंत्री अरुण जेटली पर जमकर निशाना साधा। सिन्हा ने कहा कि मेरे चुनावी अनुभव के आधार पर मैं कह सकता हूं कि इस चुनाव में जो भाषा इतनी नीचे गई है, उतनी आज तक नहीं गई है। इसके जिम्मेदार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं। उन्हें भाषा को लेकर स्टैंडर्ड स्थापित करना था, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा।
इसके साथ ही यशवंत सिन्हा ने कहा कि 23 मई को जब सरकार की विदाई होगी, तो इस सरकार की गिनती देश को सबसे खस्तहाल में छोड़कर जाने वाली सरकार में होगी। पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि बिना किसी सोच-विचार के जीएसटी लागू कर दिया गया और आज भारत उस श्रेणी में आ गया है, जहां दुनिया में भारत के आंकड़ों पर विश्वास नहीं किया जाता। नोटबंदी और गलत ढंग से लागू किए गए जीएसटी से मध्यम वर्ग के उद्योग को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।
यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार, अर्थव्यवस्था को लेकर झूठ बोल रही है, वहीं वित्तमंत्री अरुण जेटली पर जोरदार हमला बोलते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा कि इनकी औकात क्या है? जिस वित्तमंत्री को ये ही नहीं पता कि नोटबंदी होने वाली है, वो कैसा वितमंत्री?

सिन्हा ने कहा कि लोकसभा के चुनाव में मुद्दा है, ये दुर्भाग्यपूर्ण है। चुनाव में पाकिस्तान मुख्य मुद्दा बनाया गया है और का कोई जिक्र नहीं है। चीन के मामले में मोदी की छाती 56 से 6 इंच हो जाती है। इस चुनाव में हम पाकिस्तान को मुद्दा बनाकर ये दिखा रहे हैं कि हम पाकिस्तान की श्रेणी के ही देश हैं। इसमें चीन को मजा आ रहा है। हम को भूल गए हैं।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का जिक्र इसलिए हो रहा है कि चुनाव में तनाव पैदा कर वोट हासिल किया जाए। भोपाल से साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को टिकट देने पर सिन्हा ने कहा कि भोपाल की जनता तय करेगी कि देश किस ओर आगे बढ़ना चाहता है?

 

और भी पढ़ें :