ऑस्ट्रेलिया के जोश हेजलवुड को भारत के साथ क्रिकेट सीरीज के पहले याद आई लाल गेंद

Last Updated: बुधवार, 4 नवंबर 2020 (18:31 IST)
मेलबोर्न। ऑस्ट्रेलिया (Australia) के (Josh Hazlewood) का मानना है कि एक पूरे दिन से भरपूर अभ्यास या अभ्यास मैच में भाग लेना भारत के खिलाफ 17 दिसंबर से एडीलेड में शुरू होने वाली 4 टेस्ट मैचों की सीरीज (India Series) की तैयारियों के लिए पर्याप्त होगा।
हेजलवुड और उनके ऑस्ट्रेलियाई साथी डेविड वॉर्नर, पैट कमिन्स और स्टीव स्मिथ यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग का हिस्सा रहे और इस कारण वे की तैयारी के लिए शैफील्ड शील्ड प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट में नहीं खेल पाए हैं।
भारत अपने दौरे की शुरुआत 27 नवंबर से 3एकदिवसीय मैचों से करेगा जिसके बाद 3 टी20 मैच खेले जाएंगे। इनमें से आखिरी दो मैच 6 से 8 दिसंबर के बीच ड्रमोइन ओवल में भारत ए के खिलाफ होने वाले तीन दिवसीय मैच के दौरान खेले जाएंगे।
हेजलवुड ने क्रिकेट.काम.एयू से कहा, ‘क्रिकेट तो क्रिकेट होता है चाहे आप वनडे क्रिकेट खेल रहे हों या टी20 क्रिकेट, कम से कम आप उससे जुड़े तो रहते हैं। मैं एक ऐसा दिन चाहता हूं जब मैं पूरा दिन मैदान पर बिताकर 18 या 20 ओवर करूं। एक दिन ऐसा करने पर आप टेस्ट मैच के लिए तैयार होने के बेहद करीब पहुंच जाते हैं।’

हेजलवुड टेस्ट मैचों के लिए ऑस्ट्रेलिया के पहली पसंद के गेंदबाज हैं। उन्हें सीमित ओवरों की शृंखला के लिए भी चुना गया है लेकिन टी20 टीम में उनका स्वत: चयन तय नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘एक सप्ताह में तीन एकदिवसीय मैच भी खुद को परखने के लिए अच्छे हैं। आप अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 30 ओवर गेंदबाजी करते हो, आप 150 ओवर तक क्षेत्ररक्षण करते हो। आपको इस बीच कुछ यात्रा भी करनी पड़ती है।’

हेजलवुड ने कहा, ‘यह टेस्ट मैच के काफी करीब होगी लेकिन लगातार दो दिन तक गेंदबाजी करना और 20 विकेट लेना अलग तरह की कहानी होती है। मैं निश्चित तौर पर किसी स्तर पर लाल गेंद से गेंदबाजी करना पसंद करूंगा फिर चाहे वह अभ्यास के दौरान एक पूरा दिन हो या अभ्यास मैच। देखते हैं कि चीजें कैसे आगे बढ़ती हैं।’



और भी पढ़ें :