ICC की टीम से भारतीय खिलाड़ी गायब, टीम इंडिया की बादशाहत खत्म

Last Updated: गुरुवार, 20 जनवरी 2022 (20:13 IST)
हमें फॉलो करें
दुबई। रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाज, ऋषभ पंत को विकेटकीपर और रविचंद्रन अश्विन को एकमात्र विशेषज्ञ स्पिनर के रूप में आईसीसी की वर्ष की टीम में जगह दी गई है, लेकिन वर्ष 2021 के लिए एकदिवसीय एकादश में भारत के किसी खिलाड़ी को जगह नहीं मिली।
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेले गए टी20 विश्व कप में लचर प्रदर्शन के कारण आईसीसी की वर्ष की टी20 पुरुष टीम में जगह नहीं मिलने के बाद भारत के किसी भी क्रिकेटर का वर्ष की वनडे टीम में स्थान नहीं बना पाना आश्चर्यजनक नहीं है क्योंकि भारत ने बीते वर्ष में केवल छह वनडे खेले थे। वनडे टीम में आयरलैंड के दो खिलाड़ियों को जगह मिली है।

टेस्ट में नंबर एक भारत के तीन खिलाड़ियों को हालांकि लंबी अवधि के प्रारूप की टीम में जगह मिली जिसके कप्तान न्यूजीलैंड के केन विलियमसन को बनाया गया है। भारत ने वर्ष 2021 में कुल 14 टेस्ट मैच खेले जिनमें से आठ में उसने जीत दर्ज की जबकि तीन में उसे हार मिली जिनमें न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल भी शामिल है।

हाल में विराट कोहली की जगह सीमित ओवरों के कप्तान नियुक्त किए गए रोहित ने कैलेंडर वर्ष में 47.68 की औसत और दो शतकों की मदद से 906 रन बनाए। रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई और ओवल में शतक लगाए।
Koo App
The ICC team of the year for 2021 includes three Indians - Rohit Sharma, Rishabh Pant and R Ashwin. Does look to be a formidable unit! #cricketonkoo - Gaurav Kalra (@GK75) 20 Jan 2022

भारत की पहली पसंद के विकेटकीपर पंत ने 12 मैचों में 39.36 की औसत 748 रन बनाए। उन्होंने अहमदाबाद में इंग्लैंड के खिलाफ शतक भी लगाया। इसके अलावा उन्होंने विकेटकीपर के रूप में 39 शिकार भी किए। अनुभवी स्पिनर अश्विन ने 16.64 की औसत से 54 विकेट लिए तथा इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में उन्होंने विशेष छाप छोड़ी। इसके अलावा उन्होंने 25.35 की औसत से 355 रन बनाए जिसमें इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में बनाया गया शतक भी शामिल है।

भारत के तीन खिलाड़ियों और विलियमसन के अलावा आईसीसी टेस्ट टीम में श्रीलंका के दिमुथ करुणारत्ने, ऑस्ट्रेलिया के मार्नस लाबुशेन, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट, न्यूजीलैंड के काइल जेमीसन और तीन पाकिस्तानी फवाद आलम, हसन अली और शाहीन अफरीदी शामिल हैं।

जहां तक वनडे टीम का सवाल है तो दिलचस्प बात यह है इस टीम में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज का भी कोई खिलाड़ी शामिल नहीं है। पाकिस्तान के बाबर आजम को टीम का कप्तान बनाया गया है जिसमें फखर जमां के रूप में एक अन्य पाकिस्तानी शामिल है।

दक्षिण अफ्रीका के जानेमन मलान और रासी वान डर डुसेन, बांग्लादेश के शाकिब अल हसन, मुस्ताफिजुर रहमान और मुशफिकुर रहीम (विकेटकीपर), श्रीलंका के वानिंदु हसरंगा और दुशमंत चमीरा तथा आयरलैंड के पॉल स्टर्लिंग और सिमी सिंह को इस टीम में शामिल किया गया है।

भारत ने साल 2021 में केवल छह वनडे खेले और चार में जीत हासिल की। उसने इस बीच 50 ओवरों की दो श्रृंखलाएं खेलीं। उसने इंग्लैंड को स्वदेश में तीन मैचों की श्रृंखला में 2-1 से हराया और फिर श्रीलंका दौरे में इसी अंतर से जीत दर्ज की थी।

आईसीसी की वर्ष की टीम में एक भी भारतीय खिलाड़ी न होने का मतलब खराब प्रदर्शन के बजाय कम मैच खेलना है क्योंकि भारत ने 2021 में खेली गई दोनों श्रृंखलाएं जीती थीं। वर्ष 2021 में भारत के सभी छह वनडे में खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी शिखर धवन थे जिन्होंने छह मैचों में 297 रन बनाए।
ALSO READ:

मिताली व झूलन को मिली ICC की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला एकदिवसीय टीम में जगह
विराट कोहली, केएल राहुल और रोहित शर्मा जैसे बल्लेबाजों ने वर्ष 2021 में केवल तीन एकदिवसीय मैच खेले और यही स्थिति प्रमुख गेंदबाजों की भी रही जिन्होंने सभी छह मैच नहीं खेले। भुवनेश्वर कुमार पांच मैचों में खेले जिनमें उन्होंने नौ विकेट लिए।

वर्ष की टीम में जगह बनाने के लिए अंक हासिल करने होते हैं और उसके लिए प्रभावशाली प्रदर्शन करना होता है। उदाहरण के लिए आयरलैंड के स्टर्लिंग ने वर्ष 2021 में 14 मैचों में 79.66 की औसत से 705 रन बनाए थे और इसलिए उन्हें टीम में जगह मिली।(भाषा)



और भी पढ़ें :