शुक्रवार, 24 मार्च 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. England sets a modest total of two hundred and sixty before India
Written By
Last Updated: रविवार, 17 जुलाई 2022 (21:02 IST)

तीसरे वनडे में इंग्लैंड ने भारत को जीत के लिए दिया 260 रनों का लक्ष्य

इंग्लैंड ने भारत को मैनचेस्टर में खेले जा रहे तीसरे एकदिवसीय मैच में जीत के लिए 260 रनों का लक्ष्य दिया है। इंग्लैंड की पूरी टीम 45.5 ओवर में 259 रनों पर ऑल आउट हो गई। सीरीज में यह तीसरी बार हुआ जब इंग्लैंड के पूरे 10 विकेट गिर गए।

कप्तान जोस बटलर इंग्लैंड के लिये 80 गेंद में 60 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। लेकिन पारी के पहले हिस्से में गुजरात के आल राउंडर ने अपनी शानदार गेंदबाजी से दबदबा बनाया और टी20 विश्व कप के लिये प्रतिद्वंद्वी टीम को कड़ी चेतावनी भी दी।

चोटिल जसप्रीत बुमराह की जगह खेल रहे मोहम्मद सिराज ने दिन के खेल में अपनी तीसरी ही गेंद पर जॉनी बेयरस्टो का विकेट झटक लिया जिससे उनके आत्मविश्वास में काफी बढ़ोतरी हुई होगी। इंग्लैंड के इस सलामी बल्लेबाज ने लेग साइड की ओर गेंद खेली लेकिन गेंद बल्ला छूकर मिड ऑफ पर खड़े श्रेयस अय्यर के हाथों में चली गयी।

सिराज ने फिर जो रूट का विकेट झटक लिया। इंग्लैंड के खिलाड़ी ने उनकी बाहर जाती गेंद पर बल्ला छुआ दिया और दूसरी स्लिप में खड़े कप्तान रोहित शर्मा ने इसे लपक लिया।इस तरह इंग्लैंड के फॉर्म में चल रहे दो बल्लेबाज शून्य पर पवेलियन लौट चुके थे और टीम दूसरे ओवर में 12 रन पर दो विकेट गंवाकर मुश्किल में थी।इससे पहले जेसन रॉय (41) ने मोहम्मद शमी पर तीन बाउंड्री लगायी थी जिसमें से एक चौका मैच की पहली ही गेंद पर मिड-ऑफ पर लगा था।

रोहित ने टॉस जीतकर क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया, हालांकि ओल्ड ट्रैफर्ड पर पिछले नौ मैचों में से आठ में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है।

बटलर पहले बल्लेबाजी करने से खुश थे और बुमराह का नहीं खेलना मेजबानों के लिये खुशी की खबर था। लेकिन उन्हें कहां पता था कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में शुमार बुमराह की अनुपस्थिति में भी विपक्षी टीम उनकी पारी में इतनी जल्दी विकेट झटक लेगी और वो भी बल्लेबाजों की मुफीद पिच पर।

बेन स्टोक्स ने दिखाया कि यह पिच बल्लेबाजी के लिये कितनी अच्छी थी। रॉय और स्टोक्स ने संभलकर खेलते हुए पारी आगे बढ़ायी लेकिन दोनों के बीच 54 रन की साझेदारी बनने के बाद हार्दिक ने इसका अंत किया। हार्दिक ने कसी लाइन एवं लेंथ से गेंदबाजी करते हुए रॉय को विकेट के पीछे कैच आउट कराया। इस तरह इंग्लैंड ने 66 रन पर तीसरा विकेट खो दिया।

हार्दिक ने अपने छोर से दबाव बनाये रखा और जल्द ही उन्होंने इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान को अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया। उन्होंने अपना दूसरा विकेट मेडन ओवर में लिया।

भारत कसी गेंदबाजी कर रहा था जिससे इंग्लैंड की टीम रॉय के आउट होने के बाद सात ओवर में केवल 16 रन ही बना सकी।

सिराज ने वापसी करते हुए तीन गेंद में दो बार बटलर के हेलमेट पर हिट किया। दोनों मौकों पर फिजियो को ‘कनकशन प्रोटोकॉल’ के तहत बल्लेबाज की जांच करनी पड़ी।

इंग्लैंड के कप्तान ने इस बीच युजवेंद्र चहल (60 रन देकर तीन विकेट) पर लांग आन में एक छक्का जड़ा जबकि मोईन अली (34 रन) ने सिराज पर छह रन बनाये। इसके बाद दोनों ने फिर इसी क्रम में एक एक छक्के जमाये।

मोईन को रविंद्र जडेजा ने अपना शिकार बनाया। इस भारतीय आल राउंडर ने साथ ही डीप स्क्वेयर लेग से भागते हुए एक शानदार कैच भी लपका।
ये भी पढ़ें
टी20 के बाद अब हार्दिक पांड्या ने वनडे में किया सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन, झटके इंग्लैंड के 4 बड़े विकेट