कैंसर से जूझने पर जिंदगी के प्रति नजरिया बदल गया : Sir Richard Hadlee

पुनः संशोधित शुक्रवार, 28 फ़रवरी 2020 (18:29 IST)
क्राइस्टचर्च। के अपने जमाने के दिग्गज क्रिकेटर रिचर्ड हैडली ने कहा कि 2 साल तक से जूझने के बाद उनका जिंदगी के प्रति नजरिया बदल गया।
हैडली को जून 2018 में आंत का कैंसर हो गया था। इसके एक महीने बाद उन्हें ट्यूमर हटाने के लिए आपरेशन करवाना पड़ा। इसके बाद यकृत के कैंसर के लिए उनका फिर से आपरेशन किया गया था।

हैडली ने बातचीत में कहा, इससे मेरा जिंदगी के प्रति नजरिया बदल गया क्योंकि मुझे कभी इस तरह के लक्षण नजर नहीं आए थे। सब कुछ अचानक ही हुआ जब नियमित कोलोनोस्कोपी से इस समस्या का पता चला। मेरे सामने जिंदगी की सबसे बड़ी चुनौती थी क्योंकि स्थितियां मेरे अनुकूल नहीं थी।
सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक हैडली ने कहा कि अगले 5 साल उनकी काफी महत्वपूर्ण हैं। हैडली ने कहा, 2 वर्ष बीत चुके हैं और मुझे अगले 3 साल गुजारने हैं। कल हो सकता है कि मेरे अंदर (बीमारी के) लक्षण दिख जाएं।

न्यूजीलैंड की तरफ से 86 मैचों में 431 विकेट लेने वाले हैडली ने कहा कि बीमारी का पता लगने के बाद 6 महीने उनके लिए काफी मुश्किल भरे थे।

उन्होंने कहा, मेरा वजन 10 किलो कम हो गया। अब मैं सभी सामान्य काम कर रहा हूं केवल अपने खाने पर ध्यान देता हूं। मैं हर 3 महीने में नियमित जांच करवाता हूं। परीक्षण भी मेरे अनुकूल हैं लेकिन मैं अब भी इससे बाहर नहीं निकल पा रहा हूं।

जिंदगी बदलने वाली इस घटना के बावजूद हैडली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर भी नजर बनाए रखी। उन्होंने कहा, के पास कुछ शानदार तेज गेंदबाज है। इशांत शर्मा टेस्ट क्रिकेट में अच्छी भूमिका निभा रहा है। मुझे (मोहम्मद) शमी पसंद है। बुमराह अलग तरह का गेंदबाज है। वर्तमान तेज गेंदबाजों में हैडली ने इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन को अपनी पसंद बताया।

उन्होंने कहा, एंडरसन का जवाब नहीं। आप उसका विकेट देख लो। आउटस्विंगर, इनस्विंगर, गेंद छोड़ना और कलाई की स्थिति को देखो। उसने लगभग 600 टेस्ट विकेट लिए हैं। स्टुअर्ट ब्राड ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। क्या शानदार जोड़ी है। वे खेल के इतिहास की सबसे सफल जोड़ी है।


और भी पढ़ें :