कुंडली में बुध शुभ हो तो मिलती है प्रतिष्ठा और लोकप्रियता, जानिए और भी विशेषता

Budh grah Mercury
Budh grah Mercury
अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: बुधवार, 2 फ़रवरी 2022 (15:21 IST)
हमें फॉलो करें
Budh 2022: बुध के संबंध में वैदिक ज्योतिष और लाल किताब में भिन्न भिन्न मत मिलते हैं। हालांकि कॉमन बात यह है कि बुध ग्रह से नौकरी, व्यापार, प्रतिष्ठा, लोकप्रियता, लेखन, शिक्षा और बुद्धि के बारे में पता चलता है। लाल किताब के अनुसार बुध विस्तार और व्यापकता का भाव देता है। बुध का सहयोगी राहु है, देखने में नीला लेकिन उसका विस्तार कितना है यह कोई नहीं जानता। किसी ने आज तक उसे नापा नहीं पाया है। कहते हैं कि जितने पास जाने की कोशिश की जाती है। वह उतनी दी दूर होता चला जाता है। आओ जानते हैं बुध ग्रह के बारे में लाल किताब क्या कहती है।

1. कुंडली में यदि बुध दूसरे भाव में है तो तोता पालना सख्त रूप से वर्जित माना गया है। वर्ना हंसता खेलता परिवार उजड़ जाएगा। .यदि आपका ठीक तरह से नहीं चल रहा है तो बुधवार के दिन एक तोता पिंजरे सहित खरीद कर लाएं और उसे आजाद कर दें। तोता जितनी दूर उड़कर जाएगा, आपका व्यापार उतना ही अधिक चलेगा।

2. लाल किताब के अनुसार बुध तीसरे या 12वें भाव हो तो पन्ना नहीं पहनना चाहिए इससे नुकसान होगा। ज्योतिष के अनुसार 6, 8, 12 का बुध स्वामी हो तो पन्ना पहनने से अचानक नुकसान हो सकता है। इसलिए पहले किसी ज्योतिष को कुंडली दिखाएं फिर ही पहनें। यदि बुध की महादशा चल रही है और बुध 8वें या 12वें भाव में बैठा है तो भी पन्ना धारण करने से समस्या उत्पन्न हो सकती है।
कैसे होता बुध खराब? :

* और दुर्गा माता का अपमान करना।
* बहन, बुआ और मौसी से संबंध खराब करना।
* बेइमानी करना, धोखा देना।
* ढोंगी संतों के चक्कर काटना।
* झूठे देवी-देवताओं की पूजा करना
* रात्रि के क्रियाकांड करना।
* तम्बाकू, शराब का सेवन करना।
* केतु और मंगल के साथ मंदा फल।
* शत्रु ग्रहों से ग्रसित बुध का फल मंदा ही रहता है।

कैसे पहचानें कि बुध खराब है...

* तुतलाहट।
* सूंघने की शक्ति क्षीण हो जाती है।
* समय पूर्व ही दांतों का खराब होना।
* मित्र से संबंधों का बिगड़ना।
* अशुभ हो तो बहन, बुआ और मौसी पर विपत्ति आना।
* नौकरी या व्यापार में नुकसान होना।
* संभोग की शक्ति क्षीण होना।
* व्यर्थ की बदनामी होती है।
* हमेशा घूमते रहना, ज्यादातर पहाड़ी इलाकों में।
* कोने का अकेला मकान जिसके आसपास किसी का मकान न हो।

बुध की बीमारी :

* गुप्त रोग हो सकता है।
* नाखून और बाल कमजोर हो जाते हैं।
* पाचन क्षमता पर असर पड़ता है।
* सूंघने की शक्ति क्षीण हो जाती है।
* दांत कमजोर हो जाते हैं।
* व्यक्ति की वाक् क्षमता भी जाती रहती है।

कैसे जानें कि बुध शुभ है: बहन, मौसी और बुआ की स्थिति ठीक रहती है। सुंदर देह वाला ऐसा व्यक्ति ज्ञानी और चतुर होता है। सोच-समझकर बोलता है। उसकी बातों का असर होता है। ईमानदारी छोड़ दे, तो शुभ प्रभाव छोड़ देता है। सूंघने की शक्ति गजब की होती है। व्यापार और नौकरी में किसी भी प्रकार की अड़चन नहीं आती है।

कैसे बनाएं बुध को सुख और समृद्धि देने वाला

* गणेश और मां दुर्गा की उपासना करें।
* नाक छिदवाएं।
* बेटी, बहन, बुआ और साली से अच्छे संबंध रखें।
* बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाना।
* साबुत हरे मूंग का दान करना।
* कभी भी झूठ न बोलें।
* गाय को प्रतिदिन रोटी खिलाएं।
* काले कुत्ते को इमरती खिलाएं।
* तांबे की प्लेट में छेद करके बहते पानी में बहाएं।
* अपने भोजन में से एक हिस्सा गाय को, एक हिस्सा कुत्तों को और एक हिस्सा कौवे को दें।
* अपने हाथ से गाय को हरा चारा, हरा साग खिलाएं।
* उड़द की दाल का सेवन करें व दान करें।
* बालिकाओं को भोजन कराएं।
* किन्नरों को हरी साड़ी, सुहाग सामग्री दान देने से लाभ मिलेगा।
* 'ॐ बुं बुद्धाय नमः' का 108 बार नित्य जाप करें अथवा गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ करें।
* पन्ना धारण करें।

बुध ग्रह के खास उपाय :

1. दुर्गा पूजा : बुधवार के दिन दुर्गा माता के मंदिर में जाएं और उन्हें हरे रंग की चूड़ियां चढ़ाएं। ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम: मंत्र का जाप बुधवार के दिन करना बेहद शुभकारी होता है। इसके अलागा गणेश मंत्र या दुर्गा माता के मंत्र का भी जाप कर सकते हैं।

2. नाक छिदवाएं : यदि आपक कुंडली में बुध ग्रह अष्टम में बुध है या बुध ग्रह किसी भी रूप में पीड़ित हो रहा है तो बुधवार को नाक छिनवाकर दूसरे दिन गुरु का दान करें और नाक में 43 दिन तक चांदी का तार डालकर रखें।

3. इनका करें सम्मान : बेटी, बहन, बुआ और साली से अच्छे संबंध रखें और बुधवार के दिन इन्हें मिठाई खिलाएं।

4. गाय को चारा : बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं। यदि आप 100 गायों को एक साथ हरा चारा खिलाएंगे तो उत्तम होगा।

5. मूंग का दान : यदि बुध ग्रह कुंडली में पीड़ित है तो साबुत हरे मूंग का दान करें।

6. झूठ न बोलें : सबसे जरूरी यह कि झूठ ना बोलें, गप्प न लड़ाएं।

7. तुलसी का सेवन : बुधवार के दिन तुलसी का गिरा हुआ पत्ता धोकर खाना बहुत शुभ होता है।

8. हरा रूमाल : बुधवार के दिन अपने जेब में हरा रुमाल जरूर रखें। परंतु यह उपाय किसी लाल किताब के विशेषज्ञ से पूछकर ही करें।

9. खाली मटकी जल में बहाएं : बुधवार के दिन खाली मटकी को बहते जल में प्रवाहित करें, परंतु यह उपाय किसी विशेषज्ञ को कुंडली बताकर ही करें।

10. कन्या भोज : बुधकार को 9 कन्याओं को भोजन कराएं। कन्याओं को हरे रंग का रुमाल भी बांटें।

नोट : इनमें से कुछ उपाय विपरीत फल देने वाले भी हो सकते हैं। कुंडली की पूरी जांच किए बगैर उपाय नहीं करना चाहिए। किसी लाल किताब के विशेषज्ञ को कुंडली दिखाकर ही ये उपाय करें।

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।



और भी पढ़ें :