लाल किताब के अनुसार सोना कहां पहनने से क्या होता है, जानिए 14 खास बातें

Gold in lal kitab astrology
कुछ लोग गले में सोने की पहननते हैं, बहुत से लोग अंगुली में सोने की अंगुठी पहनते हैं। ऐसे भी कई लोग हैं तो कलाई में सोने का कड़ा पहनने हैं और ऐसे भी कई लोग हैं जो सभी जगह सोना एक साथ पहनते हैं। परंतु ये सभी नहीं जानते हैं कि सोना कहां पहने से लाल किताब के अनुसार क्या असर होता है। आओ संक्षिप्त में जानते हैं कि लाल किताब इस संबंध में क्या कहती है।
लाल किताब के अनुसार सोना आपना भाग्य चमका भी सकता है और बर्बाद भी कर सकता है। अत: इसे सोच समझकर पहनना चाहिए। इसके लिए पहले आप अपनी कुंडली की जांच करें और फिर ही सोना या पहनें। लाल किताब के अनुसार सोने को बृहस्पति ग्रह का कारक माना जाता है।

लाल किताब के अनुसार...
1. गले में सोना पहने का अर्थ है कि आपका बृहस्पति ग्रह कुंडली के लग्न भाव में बैठ जाएगा या वहां का असर देगा। मतलब यह कि कुंडली में यदि बृहस्पति किसी भी भाव में है तो वह पहले भाव का असर देगा। ऐसे में यदि चौथे भाव में बैठकर बृहस्पति उच्चा का हो रहा है तो वह लग्न में पहुंचकर सामान्य श्रेणी का हो जाएगा।
2. हाथ में सोना पहनने का अर्थ है कि आपके पराक्रम अर्थात तीसरे भाव में बृहस्पति सक्रिय भूमिका में रहेगा। हाथ में चाहें अंगुठी या कड़े के रूप में पहने।
3. सोने के साथ यदि नकली आभूषण या अन्य किसी धानु का आभूषण भी पहना रखा है तो यह बृहस्पति के प्रभाव को खराब कर देगा। अत: सोना धारण करना है या नहीं यह किसी जानकार से पूछकर ही धारण करना चाहिए।

4. यदि आपका लग्न मेष, कर्क, सिंह और धनु है तो आपके लिए सोना धारण करना उत्तम होगा।

5. वृषभ, मिथुन, कन्या और कुंभ लग्न के लिए सोना धारण करना उत्तम नहीं होता है।

6. तुला और मकर लग्न के लोगों को सोना कम ही पहनना चाहिए।

7. वृश्‍चिक और मीन लग्न के लोगों के लिए सोना पहनना मध्यम है।

8. जिनकी कुंडली में बृहस्पति खराब हो या किसी भी प्रकार से दूषित हो ऐसे लोगों को भी सोने के प्रयोग से बचना चाहिए।
9. कमर में सोना धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपका पाचन तंत्र खराब हो सकता है। पेट के अलावा गर्भाशय, यूट्रस आदि संबंधी समस्याएं भी हो सकती है। जिन लोगों को पेट या मोटापे की समस्या हो उनको सोना धारण नहीं करना चाहिए।

10. जो लोग लौहे का, कोयले का या शनि संबंधित किसी धातु का व्यापार करते हों उनको भी सोना धारण नहीं करना चाहिए।
11. सोना बाएं हाथ में नहीं पहनना चाहिए। बाएं हाथ में तभी पहने जब विशेष आवश्यकता हो। बाएं हाथ में सोना पहनने से परेशानियां शुरू हो सकती है।


12. पैरों में सोने की बिछियां या पायल नहीं पहनना चाहिए क्योंकि यह बहुत ही पवित्र धातु है। यह बृहस्पति की धातु है। पैरों में पहनने से दांपत्य जीवन में परेशानी आती है।

13. यदि आपने सोना धारण कर रखा है तो आप शराब और मांसाहार का सेवन न करें। ऐसा करने से आप समस्याओं से घिर सकते हैं। सोना बृहस्पति की पवित्र धातु है और इसकी पवित्रता बनाए रखना जरूरी है।

14. सोने को सोते वक्त सिरहाने न रखें। बहुत से लोग अपनी अंगुठी या चैन निकालकर तकिये के नीचे रख देते हैं। इससे नींद संबंधी समस्या तो होगी ही साथ अन्य समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती है।



और भी पढ़ें :