शुक्रवार, 26 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. व्रत-त्योहार
  3. जन्माष्टमी
  4. How to decorate tableau on Janmashtami
Written By

Janmashtami Decoration Ideas: जन्माष्टमी पर घर में इन तरीकों से सजाएं मंदिर, ऐसे बनाएं झांकी

Janmashtami Decoration Ideas
Shri krishna janmashtami 2023: इस बार 6 और 7 सितंबर यानी दोनों दिन श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा है। अधिकतर विद्वानों के अनुसार 7 सितंबर को रहेगी जन्माष्टमी। इस अवसर पर घर या मंदिर में श्रीकृष्‍ण के स्थान को अच्छे से सजाया जाता है। लड्डू गोपाल के लिए झूला बनाया जाता है और इसे अच्छे से डेकोरेट करते हैं। जानें जन्माष्टमी पर कैसे सजाएं झांकी।
 
झांकी सजाने के लिए सामग्री : झूला, फूल, फूल माला, कैंडल, गुब्बारे, मोरपंख, मोती और मोतियों की माला, हांडी बांसुरी, झालर, रंग बिरंगे कपड़ों की कतरनें, रंगबिरंगी रिबन पताका, रंग-बिरंगी लाइट, मोमबत्‍ती, थर्माकोल डिजाइन आदि। 
 
1. झूला सजाएं : बाजार में कई सुंदर झूले मिलते हैं। चांदी का सिंहासन नहीं खरीद पा रहे हैं तो गोल्ड प्लेटेड, लकड़ी से निर्मित सुंदर-सुंदर वुडन के सिंहासन या झूले मिलते हैं। मेटल हैंडीक्राफ्ट झूले, वुडन के झूले भी मिलते है। इन झूलों को को अच्छे से सजाकर उसमें नंद गोपाल को विराजमान करें।
 
2. पूजा स्थल को सजाएं : पूजा स्थल को सुंगधित फूलों के साथ सजाएं। आप चाहे तो आर्टिफिशियल फूलों से सजा सकते हैं। इसमें कैंडल, गुब्बारे और मोतियों का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही आप पूजा स्थल के आसपास सजावट के लिए आकर्षक पौधे भी लगा सकते हैं, जैसे गरबेरा डेजी का पौधा। पूजा स्थल को रंगबिरंगी झालरों के साथ भी सजा सकते हैं। इसे आपका पूजा स्थल जगमगा उठेगा।
 
3. बाल गोपाल को करें तैयार : अब बालगोपाल को उनके सुंदर वस्त्र और आभूषण पहनाएं। इस अवसर श्रीकृष्ण के प्रिय भोग जैसे पंजीरी, माखन-मिश्री के लड्‍डू अवश्य बनाएं। श्रीकृष्ण भक्ति में लीन रहकर उनकी आराधना, पूजा, आरती और मंत्रों का जाप करके इस दिन सार्थक बनाएं। 
 
4. रंगोली : झूले और पूजा स्थल के आसपास सुंदर रंगोली का बनाएं। हर त्योहार की रंगोली के बिना सजावट अधूरी-सी लगती है, ऐसे में आप भगवान के स्थल के सामने और घर के आंगन में एक बढ़िया-सी रंगोली जरूर बनाएं।
 
5. दही हांडी : पूजा स्थल या झांकी की सजावट दही-हांडी के बिना अधूरी है, दही-हांडी को भी अच्छी तरह से  सजाकर लटकाएं। आप हांडी को सजाने के लिए गोल्डन लेस या फूल-पत्तियों व मोतियों को चिपकाकर सजा सकते हैं। 
6. दीयों की जगमगाहट : रात्रि में आप जन्माष्टमी का कार्यक्रम के दौरान पूजा स्थल के आसपास और द्वार पर दीपकों को जलाएं। आप पूजा स्थल के सामने बनी रंगोली के बीच में भी दीये लगाकर उसे सजा सकते हैं। अत: पूजा स्थल के आस-पास दीये जलाएं।
 
7. घर को सजाएं : घर के द्वारा, खिड़की और दीवारों को रिबन, गुब्बारे, झालर, पताका, फूलमाला, कैंडल, झालर और अन्य सामग्री से सजा सकते हैं।
 
8. झांकी बनाएं : आप चाहें तो पूजा स्‍थल के आसपास श्रीकृष्‍ण के जन्म समय की झांकी बना सकते हैं। इसके लिए थर्माकोल की शीट पर डिजाइन बनाकर भी उसकी कटिंग करके झांकी बना सकते हो।
 
9. बांसुरी सजाएं : श्री कृष्ण की बांसुरी का खास महत्व है। बांसुरी से भी पूजा स्थल को सजा सकते हैं। बांसुरी के बिना उनकी पूजा नहीं होती। ऐसे में आप बांसुरी को मोतियों, लेस और रंगीन रिबन से सजाएं और भगवान के पास रखें. ऐसा करने से भगवान प्रसन्न होते हैं और सजावट को पूरी मानी जाती है.
 
10. सुंगधित फूलों से सजाएं सब कुछ : आप चाहें तो किसी भी प्रकार की आर्टिफिशियल चीजों का उपयोग न करते हुए संपूर्ण पूजा स्थल और घर को मात्र सुगंधित फूलों से सजाएं। भगवान कृष्ण को वैजयंती, चमेली और मोगरा जैसे सुगंधित फूल बेहद पसंद हैं।
ये भी पढ़ें
जन्माष्टमी पर निबंध हिंदी में