मंगलवार, 23 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. आईपीएल 2022
  3. आईपीएल 2022 न्यूज़
  4. Stephen Fleming Claims Mahendra Singh Dhoni decided to step down from captaincy in Last seasin
Written By
Last Modified: रविवार, 27 मार्च 2022 (16:30 IST)

IPL 2021 में ही कप्तानी छोड़ना चाहते थे महेंद्र सिंह धोनी, कोच ने किया खुलासा

IPL 2021 में ही कप्तानी छोड़ना चाहते थे महेंद्र सिंह धोनी, कोच ने किया खुलासा - Stephen Fleming Claims Mahendra Singh Dhoni decided to step down from captaincy in Last seasin
मुंबई: चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कोच स्टीवन फ्लेमिंग ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी पिछले सीज़न से ही कप्तानी का दारोमदार किसी और को देने पर विचार कर रहे थे और इस बारे में धोनी ने उनसे बात भी की थी। इस सीज़न के शुरू होने से तुरंत पहले कप्तानी छोड़ने का भी निर्णय उनका ही था और टीम इसका सम्मान करती है।

अगर उनके कप्तानी के रिकॉर्ड की बात करें तो महेंद्र सिंह धोनी 2021 में आखिरी बार टीम को खिताब जिताने से पहले 200 से ज्यादा आईपीएल मैचों में कप्तानी करने वाले पहले खिलाड़ी बने थे।साल 2008 से चेन्नई से जुड़े धोनी कुल 204 मैचों मे अपनी टीम को 121 मैचों में जीत दिला चुके हैं। 82 बार टीम को हार का सामना करना पड़ा है। वहीं जीत प्रतिशत 59.6 है। इसमें से 1 मुकाबले में नतीजा नहीं आया था।

कोच ने कहा, "हमने इस बारे में पिछले सीज़न में ही बात की थी। वह नए कप्तान रवींद्र जाडेजा को पूरा समय और मौक़ा देना चाहते थे। इसके बारे में हमने सबसे पहले टीम मालिक एन. श्रीनिवासन को बताया और फिर पूरी टीम को बताया गया। हम उनके फ़ैसले का पूरा सम्मान करते हैं।"

कोलकाता नाइटराइडर्स के ख़िलाफ़ धोनी के प्रदर्शन पर फ़्लेमिंग ने कहा, "धोनी का रन बनाना हमेशा महत्वपूर्ण है, लेकिन अगर शीर्षक्रम अच्छा करता तो और बेहतर होता। हालांकि हमारी बल्लेबाज़ी में गहराई है जो कि बहुत अच्छी बात है। अब बस हमें उसमें सुधार करने की ज़रूरत है।"

हार से शुरुआत पर फ़्लेमिंग ने कहा कि यह हार हमारे लिए उत्प्रेरक का काम करेगी। उन्होंने कहा, "पिछले सीज़न में भी हमने हार से शुरुआत की थी लेकिन फिर हम टूर्नामेंट जीते। यह हार भी हमें आगे अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करेगी।"

बल्लेबाजी में साबित हो रहे थे कमतर

गौरतलब है कि एक बल्लेबाज के तौर पर महेंद्र सिंह धोनी लगातार कमजोर होते जा रहे थे। आईपीएल 2021 में बल्ले से सिर्फ 16 मैचों में सिर्फ 16 की औसत से 114 रन बनाने वाले महेंद्र सिंह धोनी को 12 करोड़ में रिटेन किया गया था। इसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर सिर्फ 18 रन था।

आईपीएल 2020 में भी उन्होंने बल्ले से निराशाजनक प्रदर्शन किया था। आईपीएल 2020 में कुल 14 मैचों में महेंद्र सिंह धोनी महज 200 रन बना पाए थे। उन्होने कुल 16 चौके और 7 छक्के लगाए थे।

महेंद्र सिंह धोनी ने जड़ा IPL 2022 का पहला अर्धशतक, 23 पारियां और 3 साल बाद पहुंचे 50 के पार

महेंद्र सिंह धोनी के पिछले 2 सत्र खासे फीके रहे। इसका अंदाजा इस ही बात से लागाया जा सकता है कि उन्होंने 23 आईपीएल पारियों और 3 साल बाद यह 50 रन बनाए हैं। इससे पहले उन्होंने साल 2019 में 50 रनों से ज्यादा की पारी खेली थी।उनका पिछला अर्धशतक 21 अप्रैल 2019 रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ नाबाद 84 रन की पारी के रूप में आया था।
ये भी पढ़ें
पहले ही मैच से दाम चुकाना शुरु, ईशान किशन ने 48 गेंदो में जड़े 81 रन