पहले ही मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने की स्टीव स्मिथ की फजीहत, उनसे बदतर बल्लेबाज को दिया मौका

Last Updated: रविवार, 11 अप्रैल 2021 (18:04 IST)
ने पहले ही मैच में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज को बैंच पर बिठा दिया। चेन्नई सुपर किंग्स से होने वाले मैच में उनको अंतिम ग्यारह में जगह नहीं मिली। उनकी जगह अजिंक्य रहाणे को प्राथमिकता मिली।

रहाणे आईपीएल 2020 में बल्लेबाज के तौर पर बुरी तरह फ्लॉप रहे थे। 9 मैचों में कुल 14 की औसत से रहाणे 113 रन बना पाए थे। इसमें सिर्फ 1 अर्धशतक शामिल था और स्ट्राइक रेट भी मामूली 105 की थी।
जो कि स्टीव स्मिथ द्वारा बनाए गए रनों की तुलना में आधे से भी कम है।

जनवरी माह में ने आईपीएल 2021 के सत्र के लिए अपने पिछले कप्तान और स्टार बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को रिलीज कर दिया था और संजू सैमसन को नया कप्तान बनाया था।

राजस्थान रॉयल्स ने एक बयान जारी कर यह जानकारी दी थी कि स्मिथ का पिछले सत्र में बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा था और स्मिथ ने अपनी कप्तानी में निराश भी किया था। साल 2018 में राजस्थान ने उनको 12.5 करोड़ में रीटेन किया था लेकिन फ्रैंचाइजी का मन उनके खराब प्रदर्शन से उब गया था।

गौरतलब है कि पूर्व राजस्थान रॉयल्स कप्तान स्टीव स्मिथ ने आईपीएल 2020 में 14 मैचों में 25 की औसत से सिर्फ 311 रन बनाए थे। इसका असर कप्तानी पर भी देखा गया था और राजस्थान अंक तालिका में सबसे नीचे की टीम रही थी।

हाल ही में संपन्न हुई आईपीएल नीलामी में स्टीव स्मिथ का नाम ग्लेन मैक्सवेल, जैसन रॉय समते सर्वाधिक बेस प्राइस की लिस्ट में शुमार था। उनका नाम भी नीलामी के शुरुआत में आ गया था। स्टीव को लगा कई फ्रैंचाइजी उनको लेना चाहेंगी।

लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ दिल्ली कैपिटल्स ने उन पर बोली लगाई और बोली वहीं रुक गई। 2 करोड़ 20 लाख में स्टीव स्मिथ जैसा बड़ा नाम दिल्ली की झोली में गिर गया। ब्रेक के दौरान दिल्ली के सहायक कोच और पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने कहा कि यह दिल्ली का एक चतुर निर्णय था।

लेकिन अगर यह चतुर निर्णय था तो स्टीव स्मिथ को आज क्यों नहीं खिलाया गया। यह बड़ा सवाल है। आज के इस निर्णय से
क्रिकेट फैंस यह भी सोच रहे हैं कि हो सकता है इस सीजन स्टीव स्मिथ को बल्लेबाजी के लिए कम ही मौके दिए जाएं। उनके नजरअंदाज होने पर ट्विटर पर कुछ ऐसी प्रतिक्रिया देखने को मिली।
स्टीव स्मिथ टेस्ट क्रिकेट में फैब फोर में शामिल हैं लेकिन बात जब सफेद गेंद क्रिकेट की हो तो उतने प्रभावी नहीं लगते , खासकर टी-20 क्रिकेट में। शायद यही सोचकर उनको बैंच पर बैठाया गया है। यह खबर भी उड़ी थी कि नीलामी में 10 करोड़ के घाटे से वह नाराज है और चोट का बहाना बनाकर इस सीजन से बाहर बैठ जाएंगे लेकिन यह अफवाह साबित हुई।



और भी पढ़ें :