दुनिया के 11 महान जादूगर, जानिए भारत के कितने....

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
संकलन : अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'   
जादू एक इंद्रजाल है। जादू जानने और करने वाले को जादूगर कहते हैं। चमत्कार, इन्द्रजाल, अभिचार, टोना या तन्त्र-मन्त्र जैसे शब्द भी जादू कि श्रेणी में आते हैं। दरअसल जादू दो तरह का होता है पहला हाथ की सफाई और दूसरा सम्मोहन।
> जादू अनंतकाल से किया जाने वाला सम्मोहन भरा प्रदर्शन है, जिसका उपयोग पश्चिमी धर्मों व सम्प्रदायों के प्रचारक अशिक्षित लोगों को डराकर उन्हें अपना आज्ञाकारी अनुयायी बनाने के लिए किया करते थे।
 
भारत में ऐसे हजारों मदारी हैं जो चौराहों और सड़कों पर जादू बताकर अपनी रोजी-रोटी कमाते हैं। मध्यकाल में इन भारतीय जादूगरों से सीखकर ही पश्चिम जगत के लोगों ने अपने देश में जादू को प्रचलित किया और उसे एक आधुनिक लुक देकर उसे स्टेज शो में बदल दिया।
 
दुनिया में एक से बड़कर एक जादूगर हुए हैं। उनके जादू देखकर लोग हैरत में पड़ जाते थे। विज्ञान भी कभी इनके जादू को पकड़ नहीं पाया। आजकल विज्ञान की मदद से पश्‍चिम में जादू की विद्या खूब फल-फूल रही है इसीलिए आजकल भारत की अपेक्षा वहां अच्छे और ज्यादा जादूगर पैदा होते हैं। आओ जानते हैं दुनिया के 11 महान जादूगरों के बारे में जानकारी...
 
अगले पन्ने पर पहला जादूगर
 



और भी पढ़ें :