0

सपना हरियाली का

शुक्रवार,जून 3, 2011
0
1
उपलब्धि है? साहित्यकार, मूर्तिकार, चित्रकार, काष्ठकार जैस कितने 'कार' हैं जो इस सुख को बार-बार पी लेना चाहते हैं, पीते हैं और अतृप्त बने रहते हैं। हर बार कुछ नया, कुछ अलग करने की त्वरा उन्हें स्वप्न और संकल्प, कल्पना और कोशिश एवं ऊर्जा और उमंग से ...
1
2
ग्लोबल वॉर्मिंग पर लगातार होती बहस के बीच कुछ लोगों का मानना है कि इससे नुकसान की बजाय फायदे भी होंगे। उनकी नजर में यह एक प्राकृतिक घटना है और इसे रोका नहीं जाना चाहिए। इस सिद्धांत को 'ग्लोबल वॉर्मिंग स्केप्टिक्स' कहा जा रहा है। इसके मुताबिक ग्लोबल ...
2
3
संयुक्त राष्ट्र संघ ने इस बार विश्व पर्यावरण दिवस की मेजबानी भारत को सौंपी है। मेजबान होने के नाते देश भर में इस विशेष दिन को भव्य तरीके से मनाने का निर्णय लिया गया है। इसे देखते हुए प्रधान मुख्य वनसंरक्षक ने सभी वनमंडलों समारोहपूर्वक मनाने के ...
3
4
पर्यावरण व जीव के निर्माण और विघटन में अद्भुत और विचित्र साम्य है। पर्यावरण और जीवन एक-दूजे के पूरक हैं। वे सदैव साथ-साथ चलते हैं और उनका अवसान भी साथ-साथ ही होता है। पर्यावरण परमार्थी है तथा जीव स्वार्थी है। अपने निहित स्वार्थ के लिए मनुष्य ने बिना ...
4
4