कांग्रेस ने भाजपा से छीनी राजेंद्रनगर सीट

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 15 दिसंबर 2008 (18:54 IST)
दिल्ली विधानसभा चुनावों में अपना विजय अभियान जारी रखते हुए ने सोमवार को राजेंद्रनगर सीट भाजपा से छीन ली।

राजेंद्र नगर विधानसभा सीट से भाजपा ने तीन बार विधायक रह चुके पूरनचंद्र योगी की विधवा आशा को उम्मीदवार बनाया था। कांग्रेस के रमाकांत गोस्वामी ने आशा को 5406 मतों से हरा दिया।

योगी ने प्रचार के दौरान 29 नवंबर को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी, जिसकी वजह से इस सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया था। राजेंद्रनगर सीट पर 13 दिसंबर को मतदान हुआ।
इस जीत के साथ ही 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में कांग्रेस के विधायकों की संख्या बढ़कर 43 हो गई। भाजपा के विधायकों की संख्या 23 है, जबकि बसपा के दो और इनेलोद का एक विधायक है।

परिणाम की घोषणा के बाद उत्साहित गोस्वामी ने बताया मतदाताओं ने कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों पर भरोसा जताया। लोग पटेल नगर में मेरे काम को भी जानते हैं। पिछले चुनाव में मैंने पटेल नगर सीट का प्रतिनिधित्व किया था।
निवृत्तमान विधानसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक रहे गोस्वामी को 29394 मत, आशा योगी को 23988 मत और बसपा के त्रिलोकचंद शर्मा को 15871 मत मिले।

राजेंद्रनगर सीट के कुल मतदाताओं में से करीब आधे ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। पूरन चंद योगी ने 1993 से राजेंद्रनगर सीट का प्रतिनिधित्व किया था।




और भी पढ़ें :